20 Jan 2017, 13:15 HRS IST
  • बेंगलुरू:बाघ बचाओ अभियान के तहत स्कूली बच्चे
    बेंगलुरू:बाघ बचाओ अभियान के तहत स्कूली बच्चे
    मेलबर्न:सानिया मिर्जा और बारबोरा स्ट्राइकोवा की जोड़ी
    मेलबर्न:सानिया मिर्जा और बारबोरा स्ट्राइकोवा की जोड़ी
    बिहार में नशाबंदी के समर्थन में मानव श्रृंखला
    बिहार में नशाबंदी के समर्थन में मानव श्रृंखला
    अगरतल्ला में 39वें कोकब्रोक दिवस का नजारा
    अगरतल्ला में 39वें कोकब्रोक दिवस का नजारा
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम अर्थ
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • जीएसटी सरल होगा, उद्योगों के लिए कम बोझवाला होगा: राजस्व सचिव

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 12:16 HRS IST

गांधीनगर , 11 जनवरी :भाषा: केंद्रीय राजस्व सचिव हसमुख अधिया ने आज कहा कि प्रस्तावित नयी अप्रत्यक्ष कर प्रणाली वस्तु एवं सेवा कर :जीएटी: से कर व्यवस्था सरल और हल्के बोझ वाली होगी। इसमें केवल एक दर होगी और कर का भुगतान डेबिट:क्रेडिट कार्ड या चेक से किया जा सकेगा। अधिया ने यहां वाइब्रेंट गुजरात सम्मेलन में कहा कि व्यापारियों और उद्यामियों के लिए जीएसटी व्यवस्था में संसाधनों पर चुकाए गए कर को अपनी देनदारी में समायोजित कराना अधिक आसान होगा। इससे पूरे देश पर कर अनुपालन का बोझ हल्का होगा तथा पूरा देश एक साझा बाजार बन जाएगा।

अधिया ने कहा, ‘जीएसटी पर चलना बहुत ही आसान होगा। आप सबसे लिए यह बहुत ही सरल होगा। सीमाओं :राज्यों की: कोई बाधा नहीं होगी और आप एक जगह से दूसरी जगह सामान आसानी से पहुंचा सकेंगे। तमाम छोटे छोटे कर खत्म हो जाएंगे । केवल एक एकीकृत कर लागू होगा।’ गौरतलब है कि सरकार ने 1 अप्रैल 2017 से जीएसटी लागू करने का लक्ष्य रखा है पर अधिकार सम्पन्न जीएसटी परिषद में राज्यों के साथ कुछ मसलों पर सहमति न बन पाने से यह समय सीमा मुश्किल लग रही है। इनमें करदाताओं की जांच के अधिकार का मसला भी शामिल है।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।