21 Jul 2017, 15:47 HRS IST
  • डर्बी: सेमीफाइनल में आॅस्ट्रेलिया पर जीत का जश्न मनाती महिला क्रिकेट टीम
    डर्बी: सेमीफाइनल में आॅस्ट्रेलिया पर जीत का जश्न मनाती महिला क्रिकेट टीम
    जम्मू: आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत जैन समाज के एक कार्यक्रम में
    जम्मू: आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत जैन समाज के एक कार्यक्रम में
    नई दिल्ली में हुई भारी बारिश के बाद का नजारा
    नई दिल्ली में हुई भारी बारिश के बाद का नजारा
    नयागढ: ओड़िसा के नयागढ जिले के कुरल गांव में हल चलाता किसान
    नयागढ: ओड़िसा के नयागढ जिले के कुरल गांव में हल चलाता किसान
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम विदेश
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • हेती में भारतीय शांतिरक्षकों को लगाए गए हैजा के टीके

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 12:22 HRS IST

:योशिता सिंह: संयुक्त राष्ट्र, 11 जनवरी :भाषा: संयुक्त राष्ट्र ने हैजा का टीका लगवाए बिना हेती पहुंचे भारतीय शांतिरक्षकों को यह टीका लगाया है। वैश्विक निकाय ने कहा है कि यह शांतिरक्षक भेजने वाले देश की जिम्मेदारी है कि वह यह सुनिश्चित करे कि उसके जवान नियुक्ति से जुड़ी सभी चिकित्सीय अनिवार्यताओं को पूरा करते हों।

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव के प्रवक्ता स्टीफन डुजैरिक ने कल अपने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘यहां संयुक्त राष्ट्र मिशन :यूनाइटेड नेशन्स स्टेबलाइजेशन मिशन इन हेती-एमआईएनयूएसटीएएच: का कहना है कि जिन गठित पुलिस इकाइयों को मिशन में पहुंचने पर टीका नहीं लगा हुआ था, अब उन्हें टीका लगा दिया गया है।’’ उन्होंने कहा कि जिन्हें अब तक टीके की दूसरी खुराक नहीं मिली है, उन्हें यह लगाया जा रहा है या आगामी दिनों में उन्हें यह लगा दिया जाएगा।

पिछले साल अगस्त में भारत से हेती पहुंची 140 सदस्यों वाली पुलिस इकाई को टीका लगाया गया। ऐसा पता चला था कि भारतीय सैनिकों को यहां पहुंचने से पहले हैजा का टीका नहीं लगाया गया था।

डुजैरिक ने कहा कि शांतिरक्षा अभियानों में तैनात किए जाने वाले सभी शांतिरक्षकों के लिए हैजा टीकाकरण कराना अनिवार्य है। उन्होंने कहा, ‘‘यह सदस्य देशों की जिम्मेदारी है कि वे यह सुनिश्चित करें कि उनके जवानों को तैनाती से पहले सभी अनिवार्य टीके लगे हों।’’ हेती अक्तूबर 2010 से हैजे के प्रकोप से जूझ रहा है। इसके कारण लगभग 7,88,000 लोग प्रभावित हुए हैं और 9,000 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।
  • इस खण्ड में