18 Jun 2018, 18:58 HRS IST
  • वृद्धि दर को दस प्रतिशत के पार पहुंचाना चुनौती, महत्वपूर्ण कदम उठाने होंगे: मोदी
    वृद्धि दर को दस प्रतिशत के पार पहुंचाना चुनौती, महत्वपूर्ण कदम उठाने होंगे: मोदी
    सुषमा ने अंतर ब्रिक्स सहयोग को मजबूत करने की दिशा में भारत के योगदान की इच्छा जताई
    सुषमा ने अंतर ब्रिक्स सहयोग को मजबूत करने की दिशा में भारत के योगदान की इच्छा जताई
    कश्मीर में चिंताजनक रूप से बढ़ी है आतंकवादी समूहों में स्थानीय लोगों की भर्ती : सुरक्षा एजेंसियां
    कश्मीर में चिंताजनक रूप से बढ़ी है आतंकवादी समूहों में स्थानीय लोगों की भर्ती : सुरक्षा एजेंसियां
    भारत, सिंगापुर आर्थिक, रक्षा संबंधों को और मजबूत बनाने पर सहमत
    भारत, सिंगापुर आर्थिक, रक्षा संबंधों को और मजबूत बनाने पर सहमत
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • जल्दी ही अस्पतालों में तैनात होंगे नये चयनित 2065 डॉक्टर : मंत्री

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 15:23 HRS IST

लखनऊ, 13 सितंबर (भाषा) प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने आज कहा कि उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने चयनित 2065 नये चिकित्सकों की सूची जारी कर दी है। जल्द ही इन्हें प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में ड्यूटी पर भेज दिया जाएगा।

सिंह ने कहा कि 2065 नये डॉक्टरों की तैनाती से सरकारी असपतालों में चिकित्सकों की कमी दूर होगी और मरीजों को बेहतर उपचार मिल सकेगा।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के किसी भी अस्पताल में डॉक्टरों की कमी नहीं रहने दी जाएगी। ‘‘डॉक्टरों की नियुक्ति प्राथमिकिता के आधार पर की जा रही है ताकि अस्पतालों में बेहर स्वास्थ्य सेवाएं मिल सकें। विशेषज्ञ चिकित्सकों की कमी ना रहे इसका प्रयास भी किया जा रहा है।’’ उन्होंने कहा कि उप्र लोक सेवा आयोग से कहा गया है कि वह चिकित्सा विभाग के अनुरोध को प्राथमिकता दें तथा चिकित्सकों के लम्बित रिक्त पदों के भरने में तेजी लायें।

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग में लम्बे समय से 7328 चिकित्सकों के पद रिक्त थे। इन पदों पर भर्ती की प्रक्रिया पूरी तरह बंद थी। जिसके कारण बहुत से अस्पताल चिकित्सकों की भारी कमी हो गई।

उन्होंने बताया कि वर्तमान सरकार ने अस्पतालों मे चिकित्सकों की उपलब्धता सुनिश्चित करने को सर्वोच्च प्राथमिकता दी है, जिसके फलस्वरूप उप्र लोक सेवा आयोग से बेहतर समन्वय स्थापित कर भर्ती प्रक्रिया में तेजी लाने का प्रयास किया गया।

आयोग ने इस प्रकरण को गम्भीरता से लेते हुए चिकित्सकों की भर्ती पर विशेष ध्यान दिया। जिसके परिणाम स्वरूप 2065 नवचयनित चिकित्सकों की सूची जारी कर दी गई है।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।