16 Jul 2018, 04:48 HRS IST
  • राजधानी दिल्ली मेें भयंकर गर्मी के बाद बारिश का आनंद लेते बच्चे
    राजधानी दिल्ली मेें भयंकर गर्मी के बाद बारिश का आनंद लेते बच्चे
    अहमदाबाद : जगन्नाथ रथ यात्री रंगारंग तैयारी
    अहमदाबाद : जगन्नाथ रथ यात्री रंगारंग तैयारी
    महिलाओं की 400 मीटर दौड की विश्व चैम्पियन भारत की हिमा दास
    महिलाओं की 400 मीटर दौड की विश्व चैम्पियन भारत की हिमा दास
    फोनेक्सि में लगी आग को बुझाने में दमकल कर्मी जी जान से कोशिश करते
    फोनेक्सि में लगी आग को बुझाने में दमकल कर्मी जी जान से कोशिश करते
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम विदेश
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • पाकिस्तान के वित्त मंत्री पनामा पेपर्स मामले में अदालत के समक्ष पेश हुए

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 13:53 HRS IST

(सज्जाद हुसैन) इस्लामाबाद, 12 अक्तूबर (भाषा) पाकिस्तान के परेशानियों से घिरे वित्त मंत्री इशाक डार पनामा पेपर्स प्रकरण में दर्ज भ्रष्टाचार के मामले में मुकदमे का सामना करने के लिए भ्रष्टाचार निरोधक अदालत के समक्ष आज पेश हुए।

‘‘आय के ज्ञात स्रोतों से अधिक संपत्ति’’ के बारे में यह मामला डार और प्रधानमंत्री पद से अयोग्य करार दिए गए नवाज शरीफ तथा उनके परिवार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट के 28 जुलाई को दिए आदेश के बाद राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) द्वारा दायर भ्रष्टाचार के चार मामलों में से एक है।

सुप्रीम कोर्ट ने शरीफ को आयोग्य करार भी दिया था और उनके, उनके बच्चों मरियम, हुसैन और हसन तथा दामाद मुहम्मद सफदर के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले दर्ज करने का आदेश दिया था।

अधिकारियों ने बताया कि अल बराक बैंक के वरिष्ठ उपाध्यक्ष ताकिद जावेद और नेशनल इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट (एनआईटी) के शाहिद अजीज ने वित्त मंत्री के खिलाफ गवाही दी।

अजीज ने अदालत को बताया कि 67 वर्षीय डार ने बतौर वित्त मंत्री वर्ष 2015 में एनआईटी में 12 करोड़ रुपये निवेश किए थे लेकिन जनवरी 2017 में पनामा पेपर्स मामला शुरू होने के बाद यह धनराशि वापस ले ली गई।

अल-बराक बैंक के जावेद ने बैंक की लाहौर शाखा में डार के खाते की जानकारियां मुहैया कराई।

दोनों गवाहों से डार के वकील ख्वाजा हारिश ने भी सवाल पूछे।

डार पर इस मामले में पिछले महीने अभियोग लगाया गया।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।
  • इस खण्ड में