26 Sep 2018, 08:10 HRS IST
  • सबसे बड़े लोकतंत्र में राजनीति का अपराधीकरण चिंता का विषय-न्यायालय
    सबसे बड़े लोकतंत्र में राजनीति का अपराधीकरण चिंता का विषय-न्यायालय
    जन सहयोग से चार साल में पिछले 60 वर्ष से ज्यादा सफाई हुई
    जन सहयोग से चार साल में पिछले 60 वर्ष से ज्यादा सफाई हुई
    शिक्षा का माध्यम अंग्रेजी होने से बच्चों में आत्मविश्वास की कमी
    शिक्षा का माध्यम अंग्रेजी होने से बच्चों में आत्मविश्वास की कमी
    ‘बड़ी आंधी’ महसूस कर सरकार के खिलाफ झूठ फैलाने, दुष्प्रचार करने में जुटा विपक्ष : मोदी
    ‘बड़ी आंधी’ महसूस कर सरकार के खिलाफ झूठ फैलाने, दुष्प्रचार करने में जुटा विपक्ष : मोदी
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम अर्थ
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • ट्रंप ने क्वालकाम के प्रस्तावित अधिग्रहण पर लगाई रोक

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 14:29 HRS IST

वाशिंगटन, 13 मार्च( भाषा) अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने राष्ट्रीय सुरक्षा का हवाला देते हुए चिप बनाने वाली कंपनी क्वालकाम के प्रस्तावित अधिग्रहण पर आज रोक लगा दी है। सिंगापुर की प्रतिस्पर्धी कंपनी ब्रॉडकामअमेरिकी कंपनी का 117 अरब डॉलर में यह अधिग्रहण करने वाली थी और यह प्रौद्योगिकी जगत का अब तक का सबसे बड़ा सौदा होता।

माना जा रहा है कि अमेरिका ने चिप बाजार में चीनकी बढ़त की आशंकाओं के मद्देनजर यह रोक लगायी गयी है।

ट्रंप ने अपने अधिशासी आदेश में कहा, ऐसे विश्वस्त प्रमाण मिले हैं जिससे यह संदेह पुख्ता होता है कि ब्रॉडकाम द्वारा क्वालकाम के अधिग्रहण से अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा हो सकता है।

उन्होंने आदेश दिया कि ब्रॉडकाम के क्वालकामको खरीदने पर तत्काल स्थायी पाबंदी लगायी जाती है।



यदि यह सौदा पूरा होता तोउससे बनने वाली संयुक्तकंपनी दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी चिपविनिर्माता होती। इंटेल और सैमसंगइस समय दोसबसे बड़ी चिपवि निर्माता हैं।

ब्रॉडकाम ने जारी बयान में कहा कि वह राष्ट्रपति के आदेश की समीक्षा कर रही है। उसने कहा, ‘‘ ब्रॉडकाम इस बात को खरिज करती है कि क्वालकाम के प्रस्तावित अधिग्रहण से राष्ट्रीय सुरक्षा को किसी तरह का खतरा होगा।’’

अमेरिका के अखबार द न्यूयॉर्क टाइम्स ने कहा कि ट्रंप के इस निर्णय के पीछे चीन मुख्य वजह है।

पिछले सप्ताह अमेरिका के कई सांसदों ने इस अधिग्रहण पर रोक लगाने की मांग की थी।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।
  • इस खण्ड में