26 Sep 2018, 09:2 HRS IST
  • सबसे बड़े लोकतंत्र में राजनीति का अपराधीकरण चिंता का विषय-न्यायालय
    सबसे बड़े लोकतंत्र में राजनीति का अपराधीकरण चिंता का विषय-न्यायालय
    जन सहयोग से चार साल में पिछले 60 वर्ष से ज्यादा सफाई हुई
    जन सहयोग से चार साल में पिछले 60 वर्ष से ज्यादा सफाई हुई
    शिक्षा का माध्यम अंग्रेजी होने से बच्चों में आत्मविश्वास की कमी
    शिक्षा का माध्यम अंग्रेजी होने से बच्चों में आत्मविश्वास की कमी
    ‘बड़ी आंधी’ महसूस कर सरकार के खिलाफ झूठ फैलाने, दुष्प्रचार करने में जुटा विपक्ष : मोदी
    ‘बड़ी आंधी’ महसूस कर सरकार के खिलाफ झूठ फैलाने, दुष्प्रचार करने में जुटा विपक्ष : मोदी
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • ईटानगर में बाढ़ में तीन लोगों की गई जान

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 19:49 HRS IST

ईटानगर, 14 सितंबर (भाषा) अरुणाचल प्रदेश की राजधानी में शुक्रवार की सुबह बादल फटने से आयी भीषण बाढ़ के चलते कम से कम तीन लोगों की मौत हो गयी जबकि दो अन्य लापता हो गये।

अधिकारियों ने बताया कि दोनों लापता व्यक्तियों को ढूंढ़ने के लिए तलाशी और बचाव अभियान चलाया जा रहा है,जबकि बचाये गये दो व्यक्तियों का एक अस्पताल में इलाज चल रहा है।

पुलिस ने बताया कि पापु नाला इलाके से एक बालक का शव बरामद किया गया जबकि नीरजुलील इलाके से एक अन्य व्यक्ति के शव को बरामद किया गया।

उन्होंने बताया कि दोन्यी पोलो इलाके से गंभीर हालत में एक महिला को बचाया गया, जिसने यहां स्थित आर के मिशन अस्पताल में दम तोड़ दिया।

ईटानगर के उपायुक्त प्रिंस धवन ने बताया कि बाढ़ प्रभावित मोदीरिजो, दोन्यी पोलो इलाके, चंद्र नगर, लोबी, जीएसएस पुलिस कॉलोनी, प्रेस कॉलोनी जैसे इलाकों में 26 घर बाढ़ में बह गये जबकि 60 से अधिक घर पूर्ण या आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गये।

मोदीरिजो से जोड़ने वाली सड़क पूरी तरह टूट चुकी है, जबकि दोन्यी पोलो इलाके में एक पुलिया का आधा हिस्सा क्षतिग्रस्त हो चुका है।

मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने इन मौतों पर गहरा दुख व्यक्त किया है।

उन्होंने तुरंत प्रत्येक मृतक के परिजन को चार-चार लाख रुपये की सहायता राशि जारी करने की घोषणा की और घायलों के जल्द से जल्द ठीक होने के लिए प्रार्थना की।

सरकार की तरफ से हरसंभव मदद सुनिश्चित करते हुये खांडू ने जिला प्रशासन और आपदा प्रबंधन विभाग को स्थिति पर लगातार निगरानी रखने का निर्देश दिया।

मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव सत्य गोपाल से व्यक्तिगत तौर पर बचाव अभियान का निरीक्षण करने और बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थानों पर ले जाने का निर्देश दिया है।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।