10 Dec 2018, 05:9 HRS IST
  • निजी स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए नियमों का सख्ती से पालन कराएं राज्य
    निजी स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए नियमों का सख्ती से पालन कराएं राज्य
    निजी स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए नियमों का सख्ती से पालन कराएं राज्य
    निजी स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए नियमों का सख्ती से पालन कराएं राज्य
    भोपाल गैस त्रासदी की 34वीं वर्षगांठ पर मशाल जुलूस
    भोपाल गैस त्रासदी की 34वीं वर्षगांठ पर मशाल जुलूस
    कोलकाता में डूबते सूरज का एक नजारा
    कोलकाता में डूबते सूरज का एक नजारा
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम अर्थ
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने की रूपरेखा पर हितधारकों से मांगे सुझाव

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 22:2 HRS IST



नई दिल्ली, 11 अक्टूबर (भाषा) भारत को 2025 तक 5000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए रूपरेखा तैयार करने के वास्ते गठित कार्य समूह ने अपनी रिपोर्ट हितधारकों को भेजी है। समूह ने रिपोर्ट पर हितधारकों से सुझाव मांगे हैं। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को यह बात कही।

इस समूह को औद्योगिक नीति एवं संवर्धन विभाग (डीआईपीपी) ने गठित किया है।

मंत्रालय ने बयान में कहा, "भारत के भीतर मौजूद क्षमता 2025 तक उसे 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यस्था बनाने के संकेत देती है। अर्थव्यवस्था की वर्तमान संरचना और उभरती स्थितियां हमें कृषि और उससे जुड़ी गतिविधियों से 1,000 अरब डालर, विनिर्माण से 1,000 अरब डॉलर और सेवा क्षेत्र से तीन हजार अरब डॉलर का लक्ष्य हासिल करने की बुनियाद प्रदान करती है।"

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।
  • इस खण्ड में