04 Apr 2020, 14:15 HRS IST
  • प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के मद्देनजर 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडालन की घोषणा की
    प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के मद्देनजर 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडालन की घोषणा की
    कोरोना वायरस के मद्देनजर नयी दिल्ली में लोग एहतियात बरतते हुये
    कोरोना वायरस के मद्देनजर नयी दिल्ली में लोग एहतियात बरतते हुये
    चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस की जांच करते चिकित्साकर्मी
    चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस की जांच करते चिकित्साकर्मी
    पूर्व प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने राज्यसभा की सदस्यता की शपथ ली
    पूर्व प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने राज्यसभा की सदस्यता की शपथ ली
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • अंबानी को फायदा पहुंचाने के लिए राफेल सौदे की शर्तें मोदी ने बदलीं: राहुल गांधी

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 22:11 HRS IST

महुवा (गुजरात), 15 अप्रैल(भाषा) राफेल सौदे पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान के लिए उच्चतम न्यायालय द्वारा उनसे सफाई मांगने के कुछ घंटे बाद कांग्रेस अध्यक्ष ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर उद्योगपति अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ रूपये का फायदा पहुंचाने के लिए राफेद सौदे की शर्तें बदलने का आरोप लगाया।

वह यहां एक चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि ‘न्याय’ योजना का विचार उन्हें मोदी के 2014 के लोकसभा चुनाव में किए ‘‘झूठे वादे’’ से आया जिसमें हरेक नागरिक के बैंक खाते में 15 लाख रूपये जमा करने की बात कही गई थी।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि उनकी पार्टी की न्यूनतम आय गारंटी योजना ‘न्याय’ के लिए पैसा विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी जैसे भगोड़ों की जेबों से आयेगा। कांग्रेस ने अपने लोकसभा चुनाव के लिए जारी घोषणापत्र में कहा था कि अगर पार्टी सत्ता में आती है तो न्याय योजना के तहत 20 प्रतिशत सबसे गरीब परिवारों को छह हजार रूपये की मासिक या 72 हजार रूपये सालाना आमदनी सुनिश्चित की जायेगी।

मोदी के गृह राज्य गुजरात में आयोजित इस रैली में उन्होंने एक बार फिर राफेल सौदे में कथित भ्रष्टाचार का आरोप लगाया।

महुवा, भावनगर जिले में है और यह अमरेली लोकसभा संसदीय सीट के अंतर्गत आता है।

उन्होंने कहा, ‘‘ संप्रग के कार्यकाल में हुये समझौते में एचएएल (हिंदुस्तान ऐरोनॉटिक्स लिमिटेड) को लड़ाकू विमान बनाना था। हमें 126 राफेल विमान खरीदने (फ्रांस से) थे।

गांधी ने कहा, ‘‘पर नरेंद्र मोदी ने सौदा बदल दिया। उन्होंने कहा कि 36 लड़ाकू विमान फ्रांस में बनेंगे और उन्हें हम खरीदेंगे और उन्होंने उन अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ रूपये दे दिये, जिन्हें लड़ाकू विमान बनाने का कोई अनुभव नहीं था।’’

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार फ्रांस की कंपनी दसॉल्ट से महंगे दामों पर राफेल जेट खरीद रही है।

उन्होंने कहा, ‘‘ उन्होंने (अनिल अंबानी) कभी विमान नहीं बनाया, लेकिन आपने उन्हें इतना बड़ा सौदा दे दिया। क्यों? । महज इसलिए कि वह आपके दोस्त हैं।’’

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘‘ फ्रांस के राष्ट्रपति (पूर्व) ने मुझसे कहा कि जब नरेंद्र मोदी उनके देश आये थे, तो उन्होंने कहा कि हम एक राफेल लड़ाकू विमान 526 करोड़ रूपये के बजाए 1600 करोड़ रूपये में खरीदेंगे और इसके लिए अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ रूपये दे दिये।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मामला उच्चतम न्यायालय में चल रहा है..(और) जब सीबीआई ने कहा कि वह मामले की जांच करेगी, तो आधी रात को उसके निदेशक को हटा दिया गया।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ ‘द हिंदू’ अखबार ने कहा कि नरेंद्र मोदी फ्रांस सरकार और फ्रांस कंपनी से समांतर ढंग से बातचीत कर रहे थे।’’

मोदी पर अपना हमला तेज करते हुये उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री अमीरों के चौकीदार हैं, गरीबों के नहीं। उन्होंने पूछा कि क्या चौकीदार किसानों और मजदूरों के घर के बाहर दिखता है। वह आपके चौकीदार नहीं है बल्कि अडानी और अंबानी (जैसे उद्योगपतियों) के हैं।

अनिल अंबानी ने गांधी के आरोपों को खारिज कर दिया है और कहा कि दसॉल्ट एविएशन द्वारा उनकी कंपनी को स्थानीय साझेदार चुनने में सरकार की कोई भूमिका नहीं है।

गांधी का मोदी पर हमला ऐसे समय में आया है जब उच्चतम न्यायालय ने आज कहा कि राफेल मामले में फैसले के बारे में कांग्रेस प्रमुख ने अपनी कुछ टिप्पणियों को ‘‘गलत तरीके से शीर्ष अदालत से जोड़ा’’ है। शीर्ष अदालत ने उनसे इस टिप्पणी के लिए 22 अप्रैल को या उससे पहले स्पष्टीकरण देने को कहा है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने 10 अप्रैल को दावा किया था कि शीर्ष अदालत ने अपने फैसले में स्पष्ट कर दिया है कि मोदी ने चोरी की है।

गांधी ने आज की रैली में कहा कि अगर उनकी सरकार बनती है तो देश में किसानों के लिए अलग बजट होगा।

गुजरात की सभी 26 लोकसभा सीटों पर एक चरण में ही 23 अप्रैल को वोट डाले जायेंगे।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।