24 Aug 2019, 21:15 HRS IST
  • मथुरा में कृष्ण जन्मभूमि भागवत भवन में उमड़े श्रद्धालु
    मथुरा में कृष्ण जन्मभूमि भागवत भवन में उमड़े श्रद्धालु
    पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह राज्यसभा सदस्य के रूप में शपथ लेते
    पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह राज्यसभा सदस्य के रूप में शपथ लेते
    कृष्ण जम्माष्टमी के मौके पर दही हांडी का एक नजारा
    कृष्ण जम्माष्टमी के मौके पर दही हांडी का एक नजारा
    मुंबई में दही हांडी उत्सव में शिरकत करते श्रद्धालु
    मुंबई में दही हांडी उत्सव में शिरकत करते श्रद्धालु
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम खेल
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • रसेल ने निचले क्रम पर भेजे जाने पर निराशा जतायी

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 13:45 HRS IST

कोलकाता, 20 अप्रैल (भाषा) कोलकाता नाइटराइडर्स (केकेआर) के विस्फोटक बल्लेबाज अंद्रे रसेल ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) मैच में शुक्रवार को यहां रायल चैलेंजर्स बेंगलोर से मिली हार को ‘खट्टा-मीठा’ अनुभव करार देते हुए खुद को निचले क्रम पर बल्लेबाजी के लिए भेजे जाने के टीम के फैसले पर निराशा जतायी।



जीत के लिए 214 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी केकेआर की शुरूआत खराब रही। टीम ने पांच ओवर के अंदर 33 रन पर तीन विकेट गंवा दिये और फिर रोबिन उथप्पा ने 20 गेंद में सिर्फ नौ रन की पारी खेल चीजों को और मुश्किल कर दिया।



ऐसे में जब रसेल बल्लेबाजी करने आए तब टीम को जीत के लिए 49 गेंदों पर 135 रनों की जरूरत थी, लेकिन वेस्टइंडीज के इस पावर हिटर ने आखिरी ओवर तक टीम की उम्मीदों को जीवित रखा। उन्होंने नौ छक्के और दो चौके की मदद से 25 गेंद में 65 रन बनाये।



मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में रसेल ने कहा, ‘‘ सिर्फ 10 रन से हारना निराशाजनक है, हम जीत से सिर्फ दो शाट दूर रह गये। अगर हमने बीच के ओवरों में कुछ और रन बनाये होते तो शायद कुछ गेंद शेष रहते ही जीत जाते।’’



वामहस्त बल्लेबाज नितीश राणा (46 गेंदों पर नाबाद 85 रन) ने भी अंतिम ओवरों में बड़े शाट लगाये लेकिन उनकी और रसेल की पारी टीम को लगातार चौथी हार से नहीं बचा सकी।



रसेल ने कहा, ‘‘ नितीश ने शानदार बल्लेबाजी की, लेकिन हम निश्चित तौर पर निराश हैं। इसलिए मुझे खुशी और गम दोनों है।’’



रसेल से जब पूछा गया कि क्या उन्हें चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए आना चाहिए था तो उन्होंने पहले इस सवाल को टालने की कोशिश की, लेकिन फिर कहा कि टीम को इसे लेकर ज्यादा लचीला रूख अपनाना चाहिए।



उन्होंने कहा, ‘‘मुझे ऐसा (मुझे चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करनी चाहिए थी) लगता है । कई बार आपको इसे लेकर लचीला होना होगा अगर आप हमारे टीम संयोजन को देखे तो मुझे चौथे क्रम पर बल्लेबाजी करने में कोई परेशानी नहीं है।’’



वेस्टइंडीज के इस बल्लेबाज ने कहा, ‘‘जब मैं क्रीज पर रहता हूं तो विराट कोहली मुझे आउट करने के लिए अपने सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों का इस्तेमाल करते जिससे आखिरी के ओवरों में उनके कम ओवर बचते और टीम के लिए लक्ष्य का पीछा करना आसान होता।’’





  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।