23 May 2019, 14:21 HRS IST
  • ईवीएम और वीवीपैट के आंकड़ों का 100 फीसदी मिलान करने की मांग वाली याचिका खारिज
    ईवीएम और वीवीपैट के आंकड़ों का 100 फीसदी मिलान करने की मांग वाली याचिका खारिज
    प्रज्ञा ने माफी मांग ली है, लेकिन मैं अपने मन से उन्हें माफ नहीं कर पाऊंगा- मोदी
    प्रज्ञा ने माफी मांग ली है, लेकिन मैं अपने मन से उन्हें माफ नहीं कर पाऊंगा- मोदी
    न्यायालय ने राहुल गांधी के लोकसभा चुनाव लड़ने पर प्रतिबंध की मांग वाली याचिका खारिज की
    न्यायालय ने राहुल गांधी के लोकसभा चुनाव लड़ने पर प्रतिबंध की मांग वाली याचिका खारिज की
    पांचवें चरण में 51 लोकसभा सीटों पर मतदान जारी
    पांचवें चरण में 51 लोकसभा सीटों पर मतदान जारी
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • बाबासाहेब का अपमान करने वालों का चुनाव प्रचार कर रही हैं मायावती : योगी

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 14:39 HRS IST

बिजनौर (उप्र), 20 अप्रैल (भाषा) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को बसपा सुप्रीमो मायावती पर निशाना साधते हुए कहा कि वह उन लोगों के लिए चुनाव प्रचार कर रही हैं, जो लोग बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर का अपमान करते थे।

योगी ने यहां एक चुनावी जनसभा में कहा, 'आप देख सकते हैं कि राजनीति किस स्तर पर चली गई है। जो लोग बाबा साहेब का अपमान करते थे, आज उनके लिए मायावती चुनाव प्रचार कर रही हैं। जो लोग भारत का सम्मान नहीं करते हों, वो लोग वोट पाने लायक नहीं हैं।' उल्लेखनीय है कि मायावती ने आज सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ रामपुर लोकसभा सीट से गठबंधन प्रत्याशी आजम खां (सपा) के समर्थन में संयुक्त रैली की।

योगी ने कहा कि पहले गरीबों को मकान देने की बात होती थी तो सपा-बसपा की सरकार कहती थी कि पैसा नहीं है। इनके राज में किसान बदहाल था, भुखमरी का आलम था, जो भी पैसा था वो भ्रष्टाचार में खत्म हो जाता था।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के अंदर दो करोड़ 60 लाख लोगों को 'स्वच्छ भारत अभियान' के तहत शौचालय दिया गया। तीन करोड़ 55 लाख लोगों को राशन कार्ड उपलब्ध कराए गए।

योगी ने कहा, 'मोदी जी ने विकास कार्य के लिए किसी की जाति नहीं देखी। धर्म के आधार पर विकास नहीं किया, सबका साथ-सबका विकास के मंत्र पर काम किया गया।' मुख्यमंत्री ने कहा कि गन्ना किसानों के मूल्य का भुगतान किया गया। सरकार बनाने के समय 64 हजार करोड़ रूपये का गन्ना मूल्य बकाया था। छह सालों से गन्ना किसानों को पैसा नहीं मिला था। हमारी सरकार ने इसका भुगतान किया।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।