23 May 2019, 15:2 HRS IST
  • ईवीएम और वीवीपैट के आंकड़ों का 100 फीसदी मिलान करने की मांग वाली याचिका खारिज
    ईवीएम और वीवीपैट के आंकड़ों का 100 फीसदी मिलान करने की मांग वाली याचिका खारिज
    प्रज्ञा ने माफी मांग ली है, लेकिन मैं अपने मन से उन्हें माफ नहीं कर पाऊंगा- मोदी
    प्रज्ञा ने माफी मांग ली है, लेकिन मैं अपने मन से उन्हें माफ नहीं कर पाऊंगा- मोदी
    न्यायालय ने राहुल गांधी के लोकसभा चुनाव लड़ने पर प्रतिबंध की मांग वाली याचिका खारिज की
    न्यायालय ने राहुल गांधी के लोकसभा चुनाव लड़ने पर प्रतिबंध की मांग वाली याचिका खारिज की
    पांचवें चरण में 51 लोकसभा सीटों पर मतदान जारी
    पांचवें चरण में 51 लोकसभा सीटों पर मतदान जारी
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • दहेज हत्या में तीन को कारावास की सजा

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 15:18 HRS IST

हापुड़, 20 अप्रैल (भाषा) जिला एवं सत्र न्यायाधीश विनोद कुमार सिंह ने दहेज हत्या के मामले में महिला के पति समेत तीन लोगों को दोषी करार देते हुए 10 वर्ष के सश्रम कारावास तथा 23-23 हजार रुपये का जुर्माना अदा करने की सजा सुनाई है।

जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी कृष्णकांत गुप्ता ने बताया कि खरखौदा थाना क्षेत्र के गांव कबट्टा निवासी धूम सिंह की पुत्री ऊषा की शादी 28 जनवरी 2011 को सिंभावली थाना क्षेत्र के गांव खुडलिया निवासी देवव्रत के साथ हुई थी। शादी के बाद दंपती के दो बच्चे हुए।

उन्होंने बताया कि शादी के बाद से ही ससुराल वालों पर दहेज के लिए महिला को प्रताड़ित करने के आरोप लगने लगे थे। 9 सितंबर 2016 को महिला के पति देवव्रत समेत अन्य ससुरालीजनों ने दहेज के रूप में एक लाख रुपये और कार की मांग पूरी न होने पर कथित तौर पर फांसी का फंदा लगाकर उसकी हत्या कर दी। इस संबंध में मृतका के भाई अवनीश ने सिंभावली थाने में मुकदमा दर्ज कराया था।

इस मामले में सुनवाई करते हुए जिला एवं सत्र न्यायधीश वी.के. सिंह ने दोष सिद्ध होने पर तीन दोषियों को दस-दस वर्ष का सश्रम कारावास और 23-23 हजार रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई है।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।