24 Aug 2019, 21:30 HRS IST
  • मथुरा में कृष्ण जन्मभूमि भागवत भवन में उमड़े श्रद्धालु
    मथुरा में कृष्ण जन्मभूमि भागवत भवन में उमड़े श्रद्धालु
    पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह राज्यसभा सदस्य के रूप में शपथ लेते
    पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह राज्यसभा सदस्य के रूप में शपथ लेते
    कृष्ण जम्माष्टमी के मौके पर दही हांडी का एक नजारा
    कृष्ण जम्माष्टमी के मौके पर दही हांडी का एक नजारा
    मुंबई में दही हांडी उत्सव में शिरकत करते श्रद्धालु
    मुंबई में दही हांडी उत्सव में शिरकत करते श्रद्धालु
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add

देखते हैं, ‘दीदी’ होने देती हैं या नहीं
  • Photograph Photograph  (1)
  • अपनी प्रस्तावित रैलियों पर मोदी बोले : देखते हैं, ‘दीदी’ होने देती हैं या नहीं

  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 14:35 HRS IST

घोसी :मऊ: :उप्र:, 16 मई :भाषा: पश्चिम बंगाल में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की रैली के दौरान हुई हिंसा को लेकर राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर तंज करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को कहा कि आज राज्य में उनकी रैलियां होनी हैं, ‘‘देखते हैं कि ‘दीदी’ ये रैलियां होने देती हैं या नहीं ?’’

यहां आयोजित एक चुनावी रैली में प्रधानमंत्री ने कहा ‘‘मुझे याद है कि कुछ माह पहले जब पश्चिमी मिदनापुर में मेरी रैली थी, तो वहां तृणमूल कांग्रेस ने किस तरह की अराजकता फैलाई थी। इसके बाद ठाकुरनगर में तो यह हालत कर दी गई थी कि मुझे अपना संबोधन बीच में छोड़कर मंच से हट जाना पड़ा था। कुछ दिन पहले कूच बिहार में मेरी रैली के लिए जहां मंच बनना था, वहीं पर ‘दीदी’ ने अपनी पार्टी का बड़ा सा मंच बनवा दिया। ‘दीदी’ का यह रवैया तो मैं बहुत दिन से देख रहा हूं। अब पूरा देश भी देख रहा है।'

उन्‍होंने कहा कि आज पश्चिम बंगाल में उनकी रैलियां होनी हैं, ‘‘देखते हैं कि ‘दीदी’ ये रैलियां होने देती हैं या नहीं ?’’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान तृणमूल कांग्रेस के गुंडों ने प्रख्यात समाज सुधारक ईश्वरचंद्र विद्यासागर की प्रतिमा तोड़ दी। यह कृत्य जिन्होंने किया है उन्हें कठोरतम सजा दी जानी चाहिए।

मोदी ने कहा ‘‘बंगाल के नवजागरण काल की चर्चित हस्ती ईश्वरचंद्र विद्यासागर के दृष्टिकोण के प्रति समर्पित हमारी सरकार उसी जगह पर उनकी पंचधातु से निर्मित प्रतिमा स्थापित करेगी और तृणमूल कांग्रेस के गुंडों को जवाब देगी।’’

उन्होंने कहा कि जिस तरह ममता बनर्जी उप्र, बिहार और पूर्वांचल के लोगों पर निशाना साध रही हैं उससे लग रहा था कि मायावती कड़ी प्रतिक्रिया देंगी लेकिन उन्हें तो केवल कुर्सी का खेल खेलना है। उन्हें लोगों की चिंता नहीं है।

तीन तलाक के मुद्दे पर सपा बसपा गठबंधन को घेरते हुये प्रधानमंत्री ने कहा ‘‘मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक से मुक्ति दिलाने का बीड़ा भी हमारी सरकार ने उठाया लेकिन इन महामिलावटी लोगों ने मिलकर मुस्लिम बहन बेटियों को इन्साफ की राह में रोड़े अटकाए।’’

प्रधानमंत्री ने कहा, 'सरकार चाहती है कि मुस्लिम महिलाओं को उनकी भावनाओं के मुताबिक, उनकी आस्था के दायरे में ही तीन तलाक के खिलाफ आवाज उठाने का अधिकार मिले। लेकिन महामिलावटी दल ऐसा होने नहीं दे रहे। सपा-बसपा ने यहां से ऐसे उम्मीदवार को टिकट दिया है जो बलात्कार का आरोपी और भगोड़ा है। सपा का तो इतिहास तो उप्र के लोग जानते हैं, लेकिन बहन जी..., क्या आप ऐसे उम्मीदवारों के लिए वोट मांगेगी ?'

उन्होंने कहा ‘‘उत्तर प्रदेश में सपा बसपा के जमीन से कटे नेताओं ने जाति के आधार पर एक अवसरवादी गठबंधन किया लेकिन अपने कार्यकर्ताओं को भूल गए। यही वजह है कि ये कार्यकर्ता आज भी एक दूसरे पर हमले कर रहे हैं।’’

प्रधानमंत्री ने कहा ‘‘एक महीने पहले तक ‘मोदी हटाओ’ का राग अलाप रहे महामिलावटी आज बौखलाए हुए हैं क्योंकि देश ने उनकी पराजय पर मुहर लगा दी है और राज्य ने तो उनका पूरा गणित ही बिगाड़ दिया है । देश इन महामिलावटी लोगों की सच्चाई शुरू से ही जानता है कि मोदी को हटाना तो एक बहाना था, जिसकी आड़ में इन्हें अपने भ्रष्टाचार के पाप को छिपाना था ।’’

उन्होंने कहा ‘‘अपने भ्रष्टाचार को छिपाने के लिए महामिलावटी देश में जैसे-तैसे खिचड़ी सरकार बनाने की कोशिश कर रहे थे। ये एक मजबूर सरकार चाहते थे, जिसे जरूरत के हिसाब से ब्लैकमेल किया जा सके।’’

मोदी ने कहा ‘‘बुआ हो या बबुआ हो, इन्होंने अपने आसपास पैसे की, वैभव की और अपने दरबारियों की दीवार खड़ी कर ली और खुद को गरीबों से इतना दूर कर लिया कि अब इन्हें गरीबों का दुःख नजर ही नहीं आता। मैं उन किसान परिवारों के बैंक खाते में सीधी मदद दे रहा हूं, जिन्हें छोटे-छोटे खर्च के लिए भी कर्ज लेना पड़ता था ।’’

प्रधानमंत्री ने कहा ‘‘21वीं सदी में देश को एक पूर्ण बहुमत वाली सरकार चाहिए। मजबूत सरकार से ही एक विकसित भारत का सपना सच हो सकता है । ’’

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।