22 Jul 2019, 20:30 HRS IST
  • बाबरी मस्जिद प्रकरण: सुनवाई पूरी करने के लिये विशेष जज न्यायालय से छह माह का और वक्त चाहते हैं
    बाबरी मस्जिद प्रकरण: सुनवाई पूरी करने के लिये विशेष जज न्यायालय से छह माह का और वक्त चाहते हैं
    कर्नाटक संकट- न्यायालय ने इस्तीफों और अयोग्यता मुद्दे पर स्पीकर को 16 जुलाई तक निर्णय से रोका
    कर्नाटक संकट- न्यायालय ने इस्तीफों और अयोग्यता मुद्दे पर स्पीकर को 16 जुलाई तक निर्णय से रोका
    कांग्रेस में इस्तीफे का सिलसिला जारी, सिंधिया और देवड़ा ने भी अपना-अपना पद छोड़ा
    कांग्रेस में इस्तीफे का सिलसिला जारी, सिंधिया और देवड़ा ने भी अपना-अपना पद छोड़ा
    मोदी ने आबे के साथ भगोड़े आर्थिक अपराधियों और आपदा प्रबंधन के मुद्दे पर चर्चा की
    मोदी ने आबे के साथ भगोड़े आर्थिक अपराधियों और आपदा प्रबंधन के मुद्दे पर चर्चा की
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • टीआरएस के अपहृत नेता छत्तीसगढ़ में मृत मिले

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 19:23 HRS IST

हैदराबाद, 12 जुलाई (भाषा) संदिग्ध माओवादियों द्वारा तीन दिन पहले तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के जिस नेता का अपहरण किया गया था, वह पड़ोसी राज्य छत्तीसगढ़ के एक गांव में मृत मिले। पुलिस ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

टीआरएस के स्थानीय नेता एन श्रीनिवास राव का अपहरण भद्रादरी-कोठागुदेम जिले के कोथुर गांव में सोमवार को मध्यरात्रि में कर लिया गया था।

भद्राचलम के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश चंद्र ने पीटीआई-भाषा को बताया, ‘‘ शव छत्तीसगढ़ के एरामपाडु में मिला। उनके सिर पर जख्म के निशान हैं। हमें इसकी जांच करनी होगी कि उनकी मौत कैसे हुई?’’

उन्होंने कहा कि जांच के बाद ही इसका पता लगाया जा सकता है कि उनके सिर पर गोलियों के निशान हैं या चोट के निशान हैं।

चंद्र ने बताया कि एक टीम शव को वापस लाने और औपचारिकता पूरी करने के लिए पड़ोसी राज्य भेजा गया है।

राव की पत्नी दुर्गा ने इससे पहले समाचार चैनलों को बताया कि करीब 10-15 अज्ञात लोग उनके पति को घर से खींचकर बाहर ले गए। उन लोगों के हाथों में हथियार और लाठियां थी।

उन्होंने कहा कि उन्होंने और उनके बेटे ने राव को छोड़ देने की गुहार भी लगाई लेकिन उन लोगों ने सभी को पीटा।

उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘ हमने जब उन्हें रोकने की कोशिश की तो उन्होंने मुझ पर बंदूक तान दी। हमें हमारे घर से निकलने नहीं दिया गया।’’

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।