19 Jan 2020, 17:1 HRS IST
  • एनआरसी व एनपीआर- कांग्रेस व भाजपा ने एक दूसरे पर साधा निशाना
    एनआरसी व एनपीआर- कांग्रेस व भाजपा ने एक दूसरे पर साधा निशाना
    'आरएसएस के प्रधानमंत्री' भारत माता से झूठ बोलते हैं- राहुल फोटो पीटीआई
    'आरएसएस के प्रधानमंत्री' भारत माता से झूठ बोलते हैं- राहुल फोटो पीटीआई
    दिल्ली के किराड़ी में आग लगने से नौ लोगों की मौत
    दिल्ली के किराड़ी में आग लगने से नौ लोगों की मौत
    बंगाल में नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन
    बंगाल में नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम खेल
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • जापान ओपन में सिंधू की नजरें खिताबी सूखा खत्म करने पर

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 13:15 HRS IST

तोक्यो, 22 जुलाई (भाषा) भारत की शीर्ष बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधू इंडोनेशिया ओपन के फाइनल में मिली हार के बाद मंगलवार से शुरू हो रहे जापान ओपन बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर सुपर 750 टूर्नामेंट में जीत के साथ इस साल के खिताबी सूखे को खत्म करना चाहेंगी।



इस टूर्नामेंट में सानिया नेहवाल की वापसी होगी जो फिटनेस समस्याओं के कारण इंडोनेशिया ओपन सुपर 1000 प्रतियोगिता में भाग नहीं ले पायी थी।



सिंधू रविवार को जकार्ता में इंडोनेशिया ओपन के फाइनल में जापान की अकाने यामागुची से हारकर सात महीने के खिताबी सूखे को खत्म नहीं कर सकी थी। वह इस कसक को जापान में पूरा करना चाहेंगे जहां उनका अभियान चीन की हान यूई के खिलाफ शुरू होगा।



सिंधू अगर पहले दौर के मुकाबले को जीत जाती है तो दूसरे दौर में उनका सामना स्काटलैंड की क्रिस्टी गिलमोर या जापान की आया ओहोरी से होगा।





पांचवीं वरीयता प्राप्त यह भारतीय खिलाड़ी इंडोनेशिया में यामागुची से मिली शिकस्त का बदला इस टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में ले सकती है जहां सिंधू का सामना चौथी वरीयता प्राप्त इस खिलाड़ी से हो सकता है।



टूर्नामेंट में आठवीं वरीयता प्राप्त साइना नेहवाल इकलौती भारतीय खिलाड़ी है जिन्होंने मौजूदा सत्र में खिताब जीता है। वह अपने अभियान की शुरूआत में थाईलैंड की बुसनान ओंगबुरूंगपान से भिडेंगी। इस खिलाड़ी के खिलाफ साइना के जीत का रिकार्ड 3-1 का है।



पुरुष एकल के शुरूआती दौर में ही दो शीर्ष भारतीय खिलाड़ियों को सामना होगा। जहां एचएस प्रणय आठवीं वरीयता प्राप्त किदांबी श्रीकांत को चुनौती पेश करेंगे। अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों में हालांकि श्रीकांत का पलड़ा भारी है जिन्होंने पांच मुकाबलों में से चार में जीत दर्ज की है।



अन्य भारतीय खिलाड़ियों में स्विस ओपन के उपविजेता बी साई प्रणीत पहले दौर में जापान के केंटा निशिमोटो के खिलाफ कोर्ट में उतरेंगे। चोट के कारण इंडोनेशिया ओपन से बाहर रहने वाले समीर वर्मा इसके उपविजेता डेनमार्क के अंद्रेस अंटोनसेन को पहले दौर में चुनौती पेश करेंगे।



युगल खिलाड़ियों में सात्विकसाइराज रांकिरेड्डी और चिराग शेट्टी की भारतीय पुरूषों की जोड़ी को पहले दौर में रियो ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता इंग्लैंड के मार्क्स इल्लिस और क्रिस लांग्रिज की जोड़ी का सामना करेगी। मनु अत्री और बी सुमीत रेड्डी के सामने मलेशिया के गोह स्जे फई और नूर इज्जुद्दीन की पुरूष जोड़ी की चुनौती होगी।



प्रणव जेरी चोपड़ा और सिक्की की मिश्रित युगल जोड़ी के सामने झेंग सी वेई और हुआंग येओंग की शीर्ष वरीय चीनी जोड़ी की मुश्किल चुनौती है। चीन की इस जोड़ी ने रविवार को इंडोनेशिया ओपन खिताब को अपने नाम किया था। सात्विकसाईराज और अश्विनी मिश्रित युगल मुकाबले में मार्विन सीडेल और लिंडा एफलर की जर्मन जोड़ी के खिलाफ उतरेंगे।



  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।