20 Oct 2019, 06:30 HRS IST
  • मामल्लापुरम: भारत और चीन के बीच वार्ता का दृश्य
    मामल्लापुरम: भारत और चीन के बीच वार्ता का दृश्य
    नयी दिल्ली: केंद्रीय सूचना आयोग के 14वें वार्षिक सम्मेलन में बोलते गृह मंत्री अमित शाह
    नयी दिल्ली: केंद्रीय सूचना आयोग के 14वें वार्षिक सम्मेलन में बोलते गृह मंत्री अमित शाह
    मामल्लापुरम:चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के स्वागत में प्रस्तुति देते कलाकार
    मामल्लापुरम:चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के स्वागत में प्रस्तुति देते कलाकार
    मामल्लापुरम में सुबह का सैर करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
    मामल्लापुरम में सुबह का सैर करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • बीडीसी चुनाव का विरोध कांग्रेस, एनसी, पीडीपी के ‘खोखलेपन’ को प्रदर्शित करता है: भाजपा

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 21:0 HRS IST

जम्मू, नौ अक्टूबर (भाषा) भाजपा की जम्मू-कश्मीर इकाई ने पहली बार राज्य में आयोजित हो रहे प्रखंड विकास परिषद (बीडीसी) चुनाव में हिस्सा नहीं लेने के लिए कांग्रेस, पीडीपी और नेशनल कॉफ्रेंस की निंदा की। राज्य में 24 अक्टूबर को चुनाव हो रहा है।

जम्मू-कश्मीर के 310 प्रखंड में अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए मंगलवार को अधिसूचना जारी की गई थी। जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को खत्म किए जाने के बाद पहली बार राज्य में चुनाव हो रहे हैं।

राज्य में कांग्रेस ने चुनाव के बहिष्कार का निर्णय लिया है। नेशनल कॉफ्रेंस तथा पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) भी इस चुनाव में हिस्सा नहीं ले रही है।

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता ब्रिगेडियर (सेवानिवृत्त) अनिल गुप्ता ने कहा कि तीनों पार्टियों का ‘खोखलापन’ सामने आ गया है और ये पार्टियां राज्य के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कोशिशों को पचा पाने में असमर्थ हैं।

उन्होंने कहा कि पंचायती राज संस्थाएं हमारे लोकतंत्र प्रणाली का अभिन्न हिस्सा है और यह सत्ता के पूरक हैं न कि समानांतर केंद्र हैं ।

गुप्ता ने कहा, ‘‘ एनसी और पीडीपी को इस सच्चाई को उतना ही स्वीकार करने की जरूरत है जितना 370 और अनुच्छेद 34 ए के खत्म होने की वास्तविकता को। उन्हें मुख्यधारा की राजनीति में प्रासंगिक बने रहने के लिए खुद को बदलने की जरूरत है।’’

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।