20 Oct 2019, 06:9 HRS IST
  • मामल्लापुरम: भारत और चीन के बीच वार्ता का दृश्य
    मामल्लापुरम: भारत और चीन के बीच वार्ता का दृश्य
    नयी दिल्ली: केंद्रीय सूचना आयोग के 14वें वार्षिक सम्मेलन में बोलते गृह मंत्री अमित शाह
    नयी दिल्ली: केंद्रीय सूचना आयोग के 14वें वार्षिक सम्मेलन में बोलते गृह मंत्री अमित शाह
    मामल्लापुरम:चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के स्वागत में प्रस्तुति देते कलाकार
    मामल्लापुरम:चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के स्वागत में प्रस्तुति देते कलाकार
    मामल्लापुरम में सुबह का सैर करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
    मामल्लापुरम में सुबह का सैर करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम अर्थ
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • चीन की चेतावनी के बाद एपल ने हटाया हांगकांग से जुड़ा विवादित एप

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 12:50 HRS IST

हांगकांग, 10 अक्टूबर (एएफपी) एपल ने चीन की चेतावनी के बाद हांगकांग के प्रदर्शनकारियों द्वारा इस्तेमाल किये जा रहे एक परिवहन संबंधी एप को बृहस्पतिवार को स्टोर से हटा दिया।

एप के डेवलपरों ने एक बयान में इसकी जानकारी दी।

विवादित एप एचकेमैप डॉट लाइव के डेवलपरों के अनुसार एपल ने कहा, ‘‘आपके एप का इस्तेमाल इस तरीके से किया जा रहा है जो कानून लागू करने वाली एजेंसियों और हांगकांग के रहवासियों के लिये खतरनाक है।’’

उल्लेखनीय है कि चीन की सरकारी मीडिया ने बुधवार को एपल पर आरोप लगाया था कि कंपनी हांगकांग के प्रदर्शनकारियों की मदद कर रही है।

चीन के सरकारी अखबार पीपुल्स डेली में बुधवार को प्रकाशित एक आलेख में कहा गया कि एपल के स्टोर पर उपलब्ध परिवहन संबंधित एक एप की मदद से प्रदर्शनकारी हांगकांग में पुलिस की पहचान कर रहे हैं।

आलेख में कहा गया, ‘‘एप को एपल की मंजूरी मिलने से निश्चित तौर पर प्रदर्शनकारियों को मदद मिल रही है। इसका क्या यह मतलब है कि एपल का इरादा प्रदर्शनकारियों को मजबूत बनाने का है? परिवहन से संबंधित यह एप महज एक नमूना भर है।’’

इसमें कहा गया, ‘‘हांगकांग में जारी प्रदर्शन में कोई भी एपल को घसीटना नहीं चाहता है। लेकिन लोगों के पास यह राय बनाने के आधार उपलब्ध हैं कि एपल कारोबार के साथ राजनीति कर रही है और अवैध गतिविधियों में भी संलिप्त है। एपल को इस तरह की गतिविधियों के परिणाम के बारे में सोचना चाहिये।’’



एएफपी सुमन मनीषा मनीषा 1010 1254 हांगकांग

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।