14 Jul 2020, 15:11 HRS IST
  • अमेरिका ने डब्ल्यूएचओ से हटने की आधिकारिक जानकारी दी
    अमेरिका ने डब्ल्यूएचओ से हटने की आधिकारिक जानकारी दी
    प्रधानमंत्री जी बोलिए कि चीन ने हमारी जमीन हथियाई,देश आपके साथ है:राहुल
    प्रधानमंत्री जी बोलिए कि चीन ने हमारी जमीन हथियाई,देश आपके साथ है:राहुल
    दुबई के गुरुद्वारे ने भारतीयों की स्वदेश वापसी के लिए पहला चार्टर्ड विमान पंजाब भेजा
    दुबई के गुरुद्वारे ने भारतीयों की स्वदेश वापसी के लिए पहला चार्टर्ड विमान पंजाब भेजा
    सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम की घोषणा 15 जुलाई तक
    सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम की घोषणा 15 जुलाई तक
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम अर्थ
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • चीन ने विदेशी निवेशकों के लिए खोले दरवाजे, बाजार पहुंच से जुड़ी नकारात्मक सूची को किया छोटा

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 17:29 HRS IST

बीजिंग , 22 नवंबर (भाषा) आर्थिक नरमी के बीच चीन ने घरेलू और विदेशी निवेशकों के लिए बाजार पहुंच बढ़ाने के उद्देश्य से नकारात्मक सूची में शामिल उत्पादों और सेवाओं की संख्या में शुक्रवार को कटौती की।

इस सूची में ऐसे क्षेत्र और कारोबारों को रखा गया है , जिसमें निजी निवेशकों के प्रवेश पर रोक है।

चीन के आधिकारिक मीडिया ने कहा कि 2019 की सूची में 131 वस्तुओं को शामिल किया गया है। यह 2018 की सूची से 20 कम है।

राष्ट्रीय विकास एवं सुधार आयोग (एनडीआरसी) के अनुसार , जिन वस्तुओं को सूची से बाहर किया गया है , उनमें से अधिकांश सेवा उद्योग से जुड़ी है। इसमें नर्सिंग होम , सामाजिक कल्याण संस्थान और अग्निशमन सेवाओं की स्थापना शामिल है।

आयोग ने कहा कि इस सूची से चीन के बाजार को संसाधन आवंटन में निर्णायक भूमिका निभाने और बाजार पहुंच को आसान बनाने में मदद मिलेगी।

चीनी विशेषज्ञों ने कहा कि बाजार पहुंच के लिए नकारात्मक सूची को छोटा करना इस बात को दोहराता है कि चीन अपने बाजार को खोलने के लिए तैयार है। साथ ही घरेलू तथा विदेशी इकाइयों के साथ एकसमान व्यवहार करने का प्रयास कर रहा है।

उल्लेखनीय है कि चीन की आर्थिक वृद्धि दर 2019 की तीसरी तिमाही में सुस्त होकर 6 प्रतिशत पर आ गई है। यह वृद्धि दर का तीन दशक का निचला स्तर है।



  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।
  • इस खण्ड में