10 Dec 2019, 10:27 HRS IST
  • असामान्य रूप से मौन हैं प्रधानमंत्री, सरकार को अर्थव्यवस्था की कोई खबर नहीं: चिदंबरम
    असामान्य रूप से मौन हैं प्रधानमंत्री, सरकार को अर्थव्यवस्था की कोई खबर नहीं: चिदंबरम
    तमिलनाडु में भारी बारिश से दीवार गिरने से 15 लोगों की मौत
    तमिलनाडु में भारी बारिश से दीवार गिरने से 15 लोगों की मौत
    झारखंड विस चुनाव: प्रथम चरण में सुबह 11 बजे तक 27.41 प्रतिशत मतदान
    झारखंड विस चुनाव: प्रथम चरण में सुबह 11 बजे तक 27.41 प्रतिशत मतदान
    महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद का शपथ लेते हुये भाजपा नेता देवेंद्र फड़णवीस
    महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद का शपथ लेते हुये भाजपा नेता देवेंद्र फड़णवीस
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • संपूर्ण लीड सरकार दो अंतिम

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 21:8 HRS IST

उधर, उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को अपनी पार्टी के विधायकों से मुलाकात की और उन्हें बताया कि राज्य में शिवसेना नीत सरकार बनाने की प्रक्रिया अंतिम चरण में है।

एक विधायक ने बताया कि ठाकरे ने विधायकों को मुंबई में एक साथ रहने का निर्देश दिया, क्योंकि उनकी जरूरत कभी भी पड़ सकती है।

इससे पहले, शुक्रवार को कांग्रेस और राकांपा ने बताया कि उनके छोटे सहयोगियों ने महाराष्ट्र में भाजपा को सत्ता से बाहर रखने के लिए सरकार बनाने के विचार का समर्थन किया है।

इस बीच, कांग्रेस और राकांपा के प्रतिनिधियों ने अपने चुनाव पूर्व सहयोगियों के साथ यहां बैठक की, जिसमें समाजवादी पार्टी, आरपीआई (कावड़े गुट), आरपीआई (खरात गुट), राजू शेट्टी के नेतृत्व वाला स्वाभिमान पक्ष, पीजेंट्स एंड वर्कर्स पार्टी, माकपा, जनता दल और अन्य ने शिरकत की थी।

राकांपा नेता जयंत पाटिल ने कहा कि उनकी पार्टी तथा कांग्रेस के छोटे सहयोगियों ने भाजपा को सत्ता से दूर रखने के लिए शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने के विचार का समर्थन किया है।

पाटिल यहां बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उनके साथ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पृथ्वीराज चव्हाण भी थे।

पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा कि गठबंधन साझेदारों ने एक न्यूनतम साझा कार्यक्रम का मसौदा तैयार किया है, जिसे तीन पार्टियों के शीर्ष नेताओं ने मंजूरी दे दी है।

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘ अंतिम न्यूनतम साझा कार्यक्रम प्रस्तावित सरकार के कामकाज की दिशा तय करेगा।’’

पत्रकारों से बातचीत में सपा नेता अबू आज़मी ने देश से सांप्रदायिकता को खत्म करने पर जोर दिया।

उन्होंने कहा, ‘‘ अगर शिवसेना हमारा समर्थन चाहती है तो उसे अपनी कुछ नीतियों में बदलाव करना होगा... हम सांप्रदायिकता को खत्म करने के लिए सरकार का गठन करेंगे।’’

उन्होंने कहा कि इस सरकार को दलितों, अल्पसंख्यकों, किसानों और गरीबों के प्रति न्यायपूर्ण होना चाहिए।

भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिये शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस के ‘गठबंधन’ को ‘‘अवसरवादी’’ करार देते हुए शुक्रवार को कहा कि यदि वे वहां सरकार बना भी लेते हैं तो वह छह-आठ महीने से अधिक नहीं चल पाएगी।

गडकरी ने ‘पीटीआई-भाषा’ को दिए एक साक्षात्कार में कहा, ‘‘अवसरवादिता उनके गठबंधन का आधार है। ये तीनों पार्टियां केवल भाजपा को सत्ता से बाहर रखने के मकसद से एकजुट हुई हैं। मुझे संदेह है कि यह सरकार बन भी पाएगी... और अगर बन भी गई तो छह-आठ महीने से अधिक नहीं चल पाएगी।’’

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।