08 Apr 2020, 21:58 HRS IST
  • प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के मद्देनजर 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडालन की घोषणा की
    प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के मद्देनजर 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडालन की घोषणा की
    कोरोना वायरस के मद्देनजर नयी दिल्ली में लोग एहतियात बरतते हुये
    कोरोना वायरस के मद्देनजर नयी दिल्ली में लोग एहतियात बरतते हुये
    चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस की जांच करते चिकित्साकर्मी
    चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस की जांच करते चिकित्साकर्मी
    पूर्व प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने राज्यसभा की सदस्यता की शपथ ली
    पूर्व प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने राज्यसभा की सदस्यता की शपथ ली
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम विदेश
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • जर्मनी में संदिग्ध दक्षिणपंथी हमले में नौ लोगों की मौत

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 17:57 HRS IST

हनाऊ (जर्मनी), 20 फरवरी (एपी) फ्रैंकफर्ट के उपनगरीय इलाके में 43 वर्षीय एक जर्मन नागरिक ने कुछ स्थानों पर गोलीबारी कर नौ लोगों की हत्या कर दी। अधिकारियों ने गुरुवार को कहा कि यह हमला धुर दक्षिणपंथी विचारों से प्रेरित नजर आता है।



बंदूकधारी ने मध्य हनाऊ के एक हुक्का बार में बुधवार रात करीब 10 बजे हमला कर कई लोगों की हत्या कर दी उसके बाद वह वहां से करीब ढाई किलोमीटर पश्चिम की तरफ गया और वहां फिर से गोलीबारी कर कुछ और लोगों की जान ले ली।



हेस्से प्रांत के गृह मंत्री पीटर ब्यूथ ने कहा कि प्रत्यक्षदर्शियों और संदिग्ध जिस गाड़ी से फरार हुआ था उसके सर्विलांस वीडियो की मदद से पुलिस दूसरे वारदात स्थल के पास ही हमलावर के घर तक जल्द ही पहुंच गई जहां वह अपनी 72 वर्षीय मां के साथ मृत पाया गया।



ब्यूथ ने कहा कि एक वेबसाइट की जांच की जा रही है जिसके बारे में संदेह है कि वह हमलावर की है।



उन्होंने कहा, ‘‘संदिग्ध के वेबपेज के शुरुआती विश्लेषण से ऐसे संकेत मिले हैं कि वह अनजान भय से प्रेरित था।’’



उन्होंने कहा कि संघीय अभियोजकों ने जांच का जिम्मा संभाल लिया है और इस मामले को घरेलू आतंकवाद की तरह देख रहे हैं।



उन्होंने कहा, ‘‘यह हमारे स्वतंत्र और शांतिपूर्ण समाज पर हमला है।’’



माना जा रहा है कि कुछ पीड़ित तुर्की के थे और तुर्की के विदेश मंत्री मेवलट केवुसोंगलू ने कहा कि फ्रैंकफर्ट में वाणिज्य दूतावास और बर्लिन स्थित दूतावास हमले के बारे में सूचना जुटाने की कोशिश कर रहे हैं।



उन्होंने सरकारी टेलीविजन टीआरटी को बताया, ‘‘शुरुआती जानकारी के मुताबिक यह नस्ली मकसद से किया गया हमला था लेकिन हमें (आधिकारिक) बयान का इंतजार करने की जरूरत है।’’



जर्मन समाचार एजेंसी डीपीए ने कहा कि पुलिस एक वीडियो की जांच कर रही है जिसे संदिग्ध ने कुछ दिन पहले पोस्ट किया था जिसमें उसने अमेरिका में बच्चों के उत्पीड़न की एक साजिश का विवरण दिया था। इस वीडियो की प्रमाणिकता की तत्काल पुष्टि नहीं हो पाई है।



वीडियो में नजर आ रहे व्यक्ति, तोबियस आर., के नाम से ही पंजीकृत कराई गई वेबसाइट के मालिक ने कहा कि वह हनाऊ में 1977 में पैदा हुआ और शहर में ही बड़ा हुआ। बाद में उसने एक बैंक में प्रशिक्षण प्राप्त किया और 2007 में अपनी बिजनेस डिग्री पूरी की।



यह हमला जर्मनी में धुर दक्षिणपंथी हिंसा को लेकर बढ़ती चिंताओं के बीच हुआ है।



चांसलर एंजेला मर्केल ने गुरुवार को हाल्ले में एक विश्वविद्यालय में अपना प्रस्तावित दौरा रद्द कर दिया।



उनके प्रवक्ता स्टीफन सीबर्ट ने कहा कि वह, ‘‘हनाऊ में चल रही जांच पर लगातार नजर रख रही हैं।’’ हाल्ले में पिछले साल भी एक हमला हुआ था जब एक व्यक्ति ने यहूदी विरोधी नजरिया व्यक्त करते हुए साइनागॉग में गोलीबारी की कोशिश की लेकिन विफल हो गया और गिरफ्तारी से पहले उसने वहां से गुजर रहे दो लोगों को गोली मार दी।



प्रवक्ता ने ट्विटर पर कहा, “आज सुबह मन हनाऊ के लोगों के साथ है, जिनके बीच यह भयानक अपराध किया गया। प्रभावित परिवारों के प्रति गहरी संवेदना।”

ब्यूथ ने बताया कि हमले में मारे गए लोगों के अलावा एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हुआ है जबकि कई अन्य को भी चोट आई है।



हनाऊ के मेयर क्लाउस कामिंस्की ने ‘बिल्ड’ समाचार पत्र से कहा, ‘‘इससे खराब रात नहीं हो सकती। हम इसमें लंबे समय तक व्यस्त रहेंगे और यह हमेशा एक दुखद याद रहेगी।’’ एपी प्रशांत पवनेश पवनेश 2002 1755 हनाऊ

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।
  • इस खण्ड में