04 Jun 2020, 22:48 HRS IST
  • लॉकडाउन के बीच दिल्ली से अपने घर लौटते प्रवासी श्रमिक
    लॉकडाउन के बीच दिल्ली से अपने घर लौटते प्रवासी श्रमिक
    प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के मद्देनजर 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडालन की घोषणा की
    प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के मद्देनजर 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडालन की घोषणा की
    कोरोना वायरस के मद्देनजर नयी दिल्ली में लोग एहतियात बरतते हुये
    कोरोना वायरस के मद्देनजर नयी दिल्ली में लोग एहतियात बरतते हुये
    चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस की जांच करते चिकित्साकर्मी
    चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस की जांच करते चिकित्साकर्मी
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम अर्थ
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • बाजार में एक दिन में एक दशक की सबसे बड़ी तेजी, सेंसेक्स 1862 अंक उछला

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 18:15 HRS IST

मुंबई, 25 मार्च (भाषा) घरेलू शेयर बाजारों सेंसेक्स और निफ्टी में बुधवार को जोरदार तेजी आयी। यह किसी एक दिन में एक दशक की सबसे बड़ी तेजी है। वैश्विक बाजारों में मजबूती और कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिये सरकार के प्रोत्साहन पैकेज की उम्मीद में बाजार में उछाल आया।

बीएसई सेंसेक्स में कारोबार की शुरूआत में उतार-चढ़ाव देखा गया। पर अंत में यह 1,861.75 अंक यानी 6.98 प्रतिशत मजबूत होकर 28,535.78 अंक पर बंद हुआ।

इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 516.80 अंक यानी 6.62 प्रतिशत मजबूत होकर 8,317.85 अंक पर बंद हुआ। दोनों सूचकांकों में यह तेजी किसी एक दिन में एक दशक की सबसे बड़ी तेजी है।

वैश्विक बाजारों में तेजी का भी घरेलू बाजार पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा। अमेरिका में सरकार और संसद के ऊपरी सदन सीनेट के बीच अमेरिकी अर्थव्यवस्था को संभालने के लिए 2,000 अरब डॉलर के प्रोत्साहन पैकेज को लेकर समझौते की घाषणाा से वैश्विक बाजारों में तेजी आयी।

सेंसेक्स के शेयरों में रिलायंस इंडस्ट्रीज सबसे लाभ में रही। कंपनी का शेयर 15 प्रतिशत मजबूत हुआ। उसके बाद कोटक बैंक, मारुति, एचडीएफुसी बैंक औेर एसडीएफसी, टाइटन, एल एंड टी और एक्सिस बैंक का स्थान रहा।

वहीं दूसरी तरफ इंडसइंड बैंक, ओएनजीसी, आईटीसी और बजाज ऑटो नुकसान में रहे।

सभी खंडवार सूचकांकों में तेजी रही। ऊर्जा, वित्त, बैंक, वाहन और तेल वं गैस सूचकांकों में 10 प्रतिशत तक की तेजी आयी।

आनंद राठी के प्रमुख (इक्विटी रिसर्च)नरेंद्र सोलंकी ने कहा कि कोरोना संबधी सार्वजनिक पाबंदी की नये सिरे से घोषणा से अनिश्चितता कम हुई है। साथ ही सरकार के प्रोत्साहन उपायों के आश्वासन से निवेशकों की धारणा सुधरी है।

प्रधानमंत्री ने मंगलवार को कोरोना वायरस संकट से निपटने और एक-दूसरे से होने वाले संक्रमण की श्रृंखला को तोड़ने के लिये 21 दिन के बंद की घोषणा की।

सोलंकी ने कहा कि वायदा एवं विकल्प खंड के अनुबंधों के कल (बृहस्पतिवार) समाप्त होने से पहले ‘शार्ट कवरिंग’ (सौदों को पूरा करने के लिये खरीदारी) से बाजार में आयी यह तेजी चौतरफा रही। बड़ी, मझोली एवं छोटी कंपनियों के शेयरों में भी बढ़त दर्ज की गयी।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को कहा कि सरकार अर्थव्यवस्था को कोरोना वायरस झटके से उबारने के लिये जल्दी ही वित्तीय पैकेज की घोषणा करेगी।

व्हाइट हाउस और सीनेट के बीच कोरोनो वायरस महामारी के अमेरिकी अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले प्रभाव से निपटने के लिये 2,000 अरब डॉलर के प्रोत्साहन पैकेज से जुड़े विधेयक पर सहमत होने से वैश्विक बाजारों में तेजी आयी। जिसका असर भी घरेलू बाजार पर पड़ा।

एशिया के अन्य बाजारों में चीन के शांघाई, हांगकांग, जापान के तोक्यो और दक्षिण कोरिया के सोल बाजार के प्रमुख सूचकांक 8 प्रतिशत तक मजबूत हुए।

शुरूआती कारोबार में यूरोप के प्रमुख बाजारों में भी 4 प्रतिशत तक की तेजी चल रही थी।

इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड का वायदा भाव 0.07 प्रतिशत मजबूत होकर 27.17 डॉलर बैरल पर पहुंच गया।

घरेलू मुद्रा बाजार गुड़ी पड़वा के अवसर पर बुधवार को बंद है।

इधर, स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़े के अनुसार देश में कोरोना वायरस संक्रमण मामलों की संख्या बढ़कर 562 पहुंच गयी है जबकि मरने वालों की संख्या 10 से कम कर 9 कर दी गयी है। दिल्ली में दूसरी मौत में कोरोना वायरस संक्रमण नहीं पाया गया।

वहीं दुनिया में इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 4,20,000 हो गयी है जबकि 18,000 लोगों की मौत हुई है।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।
  • इस खण्ड में