05 Jun 2020, 00:19 HRS IST
  • लॉकडाउन के बीच दिल्ली से अपने घर लौटते प्रवासी श्रमिक
    लॉकडाउन के बीच दिल्ली से अपने घर लौटते प्रवासी श्रमिक
    प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के मद्देनजर 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडालन की घोषणा की
    प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के मद्देनजर 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडालन की घोषणा की
    कोरोना वायरस के मद्देनजर नयी दिल्ली में लोग एहतियात बरतते हुये
    कोरोना वायरस के मद्देनजर नयी दिल्ली में लोग एहतियात बरतते हुये
    चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस की जांच करते चिकित्साकर्मी
    चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस की जांच करते चिकित्साकर्मी
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम अर्थ
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • कोविड-19 से डरे बाजारों ने शुरुआती लाभ गंवाया, सेंसेक्स 173 अंक टूटा

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 17:33 HRS IST

मुंबई, आठ अप्रैल (भाषा) शेयर बाजार बुधवार को शुरुआती बढ़त को कायम नहीं रख पाए और कोविड-19 संक्रमण के मामले बढ़ने के बीच अंत में नुकसान के साथ बंद हुए।

बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स दिन के उच्चस्तर से करीब 1,300 अंक नीचे आया। अंत में सेंसेक्स 173.25 अंक या 0.58 प्रतिशत के नुकसान से 29,893.96 अंक पर बंद हुआ। एक समय सेंसेक्स 31,227.97 अंक के उच्चस्तर तक गया था।

इसी तरह एनएसई का निफ्टी 43.45 अंक या 0.49 प्रतिशत के नुकसान से 8,748.75 अंक पर आ गया।

कारोबारियों ने कहा कि बाजार से मंगलवार वाला उत्साह गायब था। इस तरह की अटकलें हैं कि सरकार लॉकडाउन को 14 अप्रैल से आगे बढ़ा सकती है। इससे बाजार में जबर्दस्त उतार-चढ़ाव रहा।

इसके अलावा वैश्विक बाजारों के रुख से भी यहां धारणा प्रभावित हुई। कोविड-19 के आर्थिक प्रभाव को लेकर निवेशक आशंकित हैं।

सेंसेक्स की कंपनियों में टीसीएस का शेयर सबसे अधिक 3.91 प्रतिशत टूटा। टाइटन में 3.47 प्रतिशत, आईसीआईसीआई बैंक में 2.18 प्रतिशत, एसबीआई में 1.85 प्रतिशत, भारती एयरटेल में 1.80 प्रतिशत और आईटीसी में 1.60 प्रतिशत का नुकसान रहा।

वहीं दूसरी ओर सनफार्मा, एनटीपीसी, इंडसइंड बैंक और बजाज फाइनेंस के शेयर 4.69 प्रतिशत तक लाभ में रहे।

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘यूरोपीय बाजारों की कमजोर शुरुआत और कोविड-19 संक्रमण को लेकर अनिश्चितता से बाजारों ने शुरुआती लाभ गंवा दिया। बाजार अभी इस बात को लेकर भी अनिश्चित है कि 21 दिन की बंदी की अवधि समाप्त होने के बाद सरकार का क्या रुख रहता है।’’

नायर ने कहा कि कुछ राज्य बंदी को जारी रखने के पक्ष में हैं, जबकि कुछ चरणबद्ध तरीके से इसे हटाना चाहते हैं। लॉकडाउन की अवधि जितनी अधिक रहेगी अर्थव्यवस्था और कंपनियों पर उसका उतना ही अधिक असर होगा।

हालांकि, बीएसई मिडकैप और स्मॉलकैप में 1.90 प्रतिशत तक की बढ़त रही। अमेरिका ने कोविड-19 से एक दिन में 1,800 से अधिक लोगों की जान गई है। इससे वैश्विक धारणा प्रभावित हुई।

अन्य एशियाई बाजारों में चीन का शंघाई कम्पोजिट, हांगकांग का हैंगसेंग और दक्षिण कोरिया का कॉस्पी नुकसान में रहे। वहीं जापान का निक्की लाभ में रहा। शुरुआती कारोबार में यूरोपीय बाजार नुकसान में चल रहे थे।

अंतर बैंक विदेशी विनिमय बाजार में डॉलर के मुकाबले रुपया 70 पैसे टूटकर 76.34 प्रति डॉलर पर बंद हुआ। ब्रेंट कच्चा तेल वायदा मामूली गिरावट के साथ 31.85 डॉलर प्रति बैरल पर था। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार बुधवार को देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों की संख्या 5,194 पर पहुंच गई। देश में अब तक इस महामारी से 149 लोगों की जान जा चुकी है।

दुनियाभर में इस महामारी से संक्रमित लोगों की संख्या 14 लाख पर पहुंच गई है। अब तक इससे 82,000 से अधिक लोगों की जान गई है।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।
  • इस खण्ड में