04 Jun 2020, 23:39 HRS IST
  • लॉकडाउन के बीच दिल्ली से अपने घर लौटते प्रवासी श्रमिक
    लॉकडाउन के बीच दिल्ली से अपने घर लौटते प्रवासी श्रमिक
    प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के मद्देनजर 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडालन की घोषणा की
    प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के मद्देनजर 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडालन की घोषणा की
    कोरोना वायरस के मद्देनजर नयी दिल्ली में लोग एहतियात बरतते हुये
    कोरोना वायरस के मद्देनजर नयी दिल्ली में लोग एहतियात बरतते हुये
    चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस की जांच करते चिकित्साकर्मी
    चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस की जांच करते चिकित्साकर्मी
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • रेलवे ने एक मई से अब तक 2,600 श्रमिक स्पेशल ट्रेन से 36 लाख प्रवासी कामगारों को गृह राज्य पहुंचाया

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 22:22 HRS IST

नयी दिल्ली, 23 मई (भाषा) रेलवे ने एक मई से अब तक 2,600 श्रमिक विशेष ट्रेन से 36 लाख प्रवासी कामगारों को उनके गंतव्य स्थल तक पहुंचाया है।

आधिकारिक आंकडों में यह जानकारी दी गई।

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष वी के यादव ने शनिवार को कहा कि रेलवे अगले 10 दिनों में और 36 लाख प्रवासी कामगारों को गंतव्य स्थल तक पहुंचाने के लिए 2,600 ट्रेन चलाएगा।

श्रमिक विशेष ट्रेन मुख्यत: राज्यों के अनुरोध पर चलाई जा रही हैं जो लॉकडाउन के कारण फंसे प्रवासी कामगारों को उनके गृह राज्यों तक भेजना चाहते हैं। रेलवे इन ट्रेनों को चलाने के कुल व्यय का 85 फीसद व्यय खुद वहन कर रहा है जबकि शेष राशि राज्य दे रहे हैं।

रेलवे के आंकडों के अनुसार उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक 1246 श्रमिक विशेष रेलगाड़ियां पहुंची हैं, इसके बाद बिहार में 804 और झारंखड में 124 रेलगाड़ियां पहुंची हैं। वहीं गुजरात ने 759, महाराष्ट्र ने 483 और पंजाब ने 291 श्रमिक विशेष रेलगाड़ियों से प्रवासी कामगारों को रवाना किया है।

यादव ने बताया कि अगले 10 दिनों में, विशेष ट्रेनें आंध्र प्रदेश, बिहार, छत्तीसगढ़, दिल्ली, गोवा, गुजरात, हरियाणा, जम्मू और कश्मीर, कर्नाटक, केरल, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, पंजाब, राजस्थान, तेलंगाना, त्रिपुरा, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड से रवाना होंगी।

उन्होंने कहा कि इनके गंतव्य स्थलों में असम, बिहार, छत्तीसगढ़, गुजरात, जम्मू और कश्मीर, कर्नाटक, झारखंड, केरल, मणिपुर, ओडिशा, राजस्थान, तमिलनाडु, उत्तराखंड, त्रिपुरा, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल शामिल हैं।

गौरतलब है कि कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लागू लॉकडाउन के चलते हजारों की संख्या में प्रवासी कामगार पैदल, साइकिलों से अथवा अन्य साधनों से अपने घरों के लिए रवाना होने लगे थे। विभिन्न सड़क दुर्घटनाओं में अनेक प्रवासी कामगारों की मौत भी हुई। इसके बाद रेलवे ने एक मई से कामगारों को उनके गृह राज्यों तक पहुंचाने के लिए श्रमिक विशेष रेलगाड़ियों का परिचालन शुरू किया।

पिछले चार दिनों में रेलवे ने प्रतिदिन 206 ट्रेन का संचालन कर औसतन तीन लाख यात्रियों को गंतव्य स्थल तक पहुंचाया।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।