07 Jul 2020, 12:25 HRS IST
  • प्रधानमंत्री जी बोलिए कि चीन ने हमारी जमीन हथियाई,देश आपके साथ है:राहुल
    प्रधानमंत्री जी बोलिए कि चीन ने हमारी जमीन हथियाई,देश आपके साथ है:राहुल
    दुबई के गुरुद्वारे ने भारतीयों की स्वदेश वापसी के लिए पहला चार्टर्ड विमान पंजाब भेजा
    दुबई के गुरुद्वारे ने भारतीयों की स्वदेश वापसी के लिए पहला चार्टर्ड विमान पंजाब भेजा
    सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम की घोषणा 15 जुलाई तक
    सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम की घोषणा 15 जुलाई तक
    सेना प्रमुख ने लद्दाख का दौरा कर हालात का जायजा लिया
    सेना प्रमुख ने लद्दाख का दौरा कर हालात का जायजा लिया
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम अर्थ
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • लॉकडान की वजह से महाराष्ट्र से चीनी निर्यात प्रभावित

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 13:18 HRS IST

मुंबई, 29 जून (भाषा) महाराष्ट्र से चीनी निर्यात पर लॉकडाउन का प्रभाव रहा है। इस साल जनवरी से जून की अवधि में राज्य से 60 लाख टन निर्यात लक्ष्य के मुकाबले केवल 36 लाख टन चीनी का ही निर्यात किया गया।

महाराष्ट्र राज्य सहकारी चीनी कारखाना महासंघ के चेयरमैन जयप्रकाश दांडेगांवकर ने कहा कि कोविड-19 महामारी और उसके बाद लगाये गये लॉकडाउन के कारण निर्यात की प्रक्रिया प्रभावित हुई है।

उन्होंने बताया कि नवंबर 2019 से लेकर जून 2020 तक राज्य में 570 लाख टन गन्ने की पेराई की गई। इससे अब तक 63 लाख टन चीनी का उत्पादन किया गया।

दांडेगांवकर ने कहा, ‘‘36 लाख टन चीनी का निर्यात कर लिया गया है। और छह लाख टन के निर्यात के लिये सौदे हुये हैं और इसके लिये चीनी गोदामों से जारी की जा रही है।’’

उन्होंने बताया कि अब तक ज्यादातर चीनी का इंडोनेशिया और ईरान को निर्यात किया गया। एक साल पहले जनवरी से जून अवधि में राज्य में 952 लाख टन गन्ने की पेराई की गई थी और 107 लाख टन चीनी उत्पादन हुआ था।

गन्ने की पेराई आमतौर पर हर साल नवंबर में शुरू होकर मार्च अंत तक चलती है।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।