05 Aug 2020, 02:13 HRS IST
  • देश में एक दिन में कोविड-19 के 54,735 नए मामले, कुल मामले 17 लाख के पार
    देश में एक दिन में कोविड-19 के 54,735 नए मामले, कुल मामले 17 लाख के पार
    कोरोना वायरस का खतरा टला नहीं है, बहुत ही ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत : मोदी
    कोरोना वायरस का खतरा टला नहीं है, बहुत ही ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत : मोदी
    भारत में कोविड-19 के मामले 13 लाख के पार, मृतकों की संख्या 31,358 हुई
    भारत में कोविड-19 के मामले 13 लाख के पार, मृतकों की संख्या 31,358 हुई
    कानून बनने के बाद तीन तलाक की घटनाओं में 82 फीसदी की कमी: नकवी
    कानून बनने के बाद तीन तलाक की घटनाओं में 82 फीसदी की कमी: नकवी
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम अर्थ
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • अडाणी ट्रांसमिशन का केपीटीएल के साथ अलीपुरद्वार ट्रांसमिशन खरीदने के लिये समझौता

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 11:54 HRS IST

नयी दिल्ली, छह जुलाई (भाषा) अडाणी ट्रांसमिशन ने सोमवार को कहा कि उसने अलीपुरद्वार ट्रांसमिशन लिमिटेड के अधिग्रहण के लिये कल्पतरु पावर ट्रांसमिशन लिमिटेड (केपीटीएल) के साथ समझौता किया है।

अडाणी ट्रांसमिशन लिमिटेड ने शेयर बाजारों को भेजी नियामकीय सूचना में कहा है कि इस अधिग्रहण के लिये कुल मूल्य 1,286 करोड़ रुपये लगाया गया है।

उसने कहा कि कंपनी के इक्विटी शेयरों का अधिग्रहण 10 रुपये प्रति शेयर के अंकित मूल्य पर किया गया है।

अडाणी ट्रांसमिशन ने कहा है कि अलीपुरद्वार ट्रांसमिशन पश्चिम बंगाल और बिहार मं 650 सर्किट किलोमीटर की ट्रांसमिशन लाइनों का परिचालन करती है। उसने कहा, ‘‘इस अधिग्रहण के साथ ही अडाणी ट्रांसमिशन लिमिटेड का कुल नेटवर्क 15,400 सर्किट किलोमीटर तक पहुंच जायेगा। इसमें से 12,200 किलोमीटर से अधिक (इस संपत्ति को मिलाकर) परिचालन में हैं जबकि 3,200 सर्किट किलोमीटर निर्माण के विभिन्न चरणों में है।’’

अडाणी ट्रांसमिशन के प्रबंध निदेशक और सीईओ अनिल सरदाना ने कहा, ‘‘अलीपुरद्वार ट्रांसमिशन लिमिटेड के अधिग्रहण से अडाणी ट्रांसमिशन की देशभर में उपस्थिति बढ़ेगी और साथ ही यह देश में निजी क्षेत्र की सबसे बड़ी ट्रांसमिशन कंपनी के तौर पर और मजबूत होगी।’’

यह अधिग्रहण सभी नियामकीय मंजूरियों और अन्य सहमतियों के पूरा होने पर दो माह में पूरा हो सकता है। ‘‘इस संपत्ति के अडाणी समूह में आने से अडाणी ट्रांसमिशन 2022 तक 20,000 सर्किट किलोमीटर का लक्ष्य हासिल करने के और करीब पहुंचेगी।’’

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।