18 Sep 2020, 12:30 HRS IST
  • रास में की गई कोरोना योद्धाओं को वीरता पुरस्कार देने की मांग
    रास में की गई कोरोना योद्धाओं को वीरता पुरस्कार देने की मांग
    आईपीएल के दौरान सट्टेबाजी पर नजर रखेगा स्पोर्टराडार
    आईपीएल के दौरान सट्टेबाजी पर नजर रखेगा स्पोर्टराडार
    कोविड मृत्यु दर घटा कर एक फीसदी से नीचे लाने का लक्ष्य: स्वास्थ्य मंत्री
    कोविड मृत्यु दर घटा कर एक फीसदी से नीचे लाने का लक्ष्य: स्वास्थ्य मंत्री
    सरकार की देश के 69,000 पेट्रोल पंपों पर ईवी चार्जिंग कियोस्क लगाने की योजना
    सरकार की देश के 69,000 पेट्रोल पंपों पर ईवी चार्जिंग कियोस्क लगाने की योजना
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम विदेश
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • संघर्ष बढ़ाने वाले कारक गलत सूचना फैलाकर अनिश्चितता भरे हालात का फायदा उठा रहे हैं: भारत

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 12:21 HRS IST

(योशिता सिंह)
संयुक्त राष्ट्र, 13 अगस्त (भाषा) संयुक्त राष्ट्र में भारत ने कहा कि संघर्ष बढ़ाने वाले कुछ कारक गलत सूचना फैला कर और अवसरवादी आतंकवादी हमले प्रयोजित करके अपने मंसूबों को पूरा करने के लिए अनिश्चितता भरे मौजूदा हालात का फायदा उठा रहे हैं।

भारत ने कहा कि कोविड-19 वैश्विक महामारी ने शांति स्थापित करने में योगदान देने वाले कदमों पर प्रतिकूल असर डाला है और संघर्षों को और बढ़ा दिया है।

उसने बुधवार को ‘‘वैश्विक महामारी एवं स्थायी शांति के सामने चुनौतियां’’ विषय पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की उच्च स्तरीय खुली बहस में एक बयान में कहा, ‘‘हम कोविड-19 वैश्विक महामारी से जूझ रहे हैं। इसके कारण विश्व में जिस व्यापक स्तर पर बाधा उत्पन्न हुई है, वह इस पीढ़ी ने पहले कभी नहीं देखी।’’
भारत ने कहा कि इस वैश्विक महामारी ने शांति स्थापना में योगदान देने वाले लगभग सभी कदमों पर प्रतिकूल असर डाला है और संघर्ष संबंधी हालात को और जटिल बना दिया है।

उसने कहा, ‘‘संघर्ष संबंधी हालात इस हद तक बिगड़ गए हैं कि हमें शांति कायम रखने संबंधी अहम मामलों पर ध्यान देने के बजाए संघर्षों और बढ़ते मानवीय संकट से निपटने पर अधिक ध्यान देना पड़ रहा है।’’
भारत ने बयान में कहा, ‘‘यही चुनौती है कि हम विभिन्न जरूरतों के बीच प्राथमिकता कैसे तय करें।’’
उसने कहा, ‘‘संघर्ष बढ़ाने वाले कुछ कारक असहमति एवं हिंसा बढ़ाने के लिए गलत जानकारी फैला रहे हैं और यहां तक कि अवसरवादी आतंकवादी हमलों को प्रायोजित कर रहे हैं। वे ऐसे कई तरीकों के जरिए अपने मंसूबों को पूरा करने के लिए अनिश्चितता भरे मौजूदा हालात का फायदा उठा रहे हैं।’’

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।
  • इस खण्ड में