10 May 2021, 23:50 HRS IST
  • गुजरात के भरूच में अस्पताल में आग लगने से कोविड-19 के 18 मरीजों की मौत
    गुजरात के भरूच में अस्पताल में आग लगने से कोविड-19 के 18 मरीजों की मौत
    कोविड की ताजा लहर के ‘तूफान’ ने देश को झकझोर कर रख दिया-मोदी
    कोविड की ताजा लहर के ‘तूफान’ ने देश को झकझोर कर रख दिया-मोदी
    देश में कोविड-19 से 2,023 लोगों की मौत, संक्रमण के 2,95,041 नए मामले
    देश में कोविड-19 से 2,023 लोगों की मौत, संक्रमण के 2,95,041 नए मामले
    त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब कोरोना वायरस से संक्रमित
    त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब कोरोना वायरस से संक्रमित
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • दिल्ली की वायु गुणवत्ता में आंशिक सुधार लेकिन अब भी ‘खराब’ श्रेणी में

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 13:19 HRS IST

नयी दिल्ली, 21 नवंबर (भाषा) दिल्ली की वायु गुणवत्ता में शनिवार को अनुकूल हवाओं की गति की वजह से आंशिक सुधार हुआ, लेकिन अब भी यह ‘खराब’ श्रेणी में बनी हुई है।

सरकारी एजेंसियों ने बताया कि वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) में दिन के समय और सुधार होगा और इसके ‘मध्यम’ श्रेणी में जाने की उम्मीद है।

दिल्ली का शनिवार सुबह नौ बजे एक्यूआई 263 रहा जबकि शुक्रवार को गत 24 घंटे का औसत एक्यूआई 296 दर्ज किया गया था। इसी प्रकार दिल्ली में गत बृहस्पतिवार और बुधवार को एक्यूआई क्रमश: 283 और 211 रहा था।

उल्लेखनीय है कि शून्य से 50 के बीच वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘अच्छा’, 51 से 100 के बीच संतोषजनक, 101 से 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 से 300 के बीच ‘खराब’, 301 से 400 के बीच ‘अत्यंत खराब’ और 401 से 500 के बीच वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘गंभीर’ श्रेणी में माना जाता है।

दिल्ली स्थित केंद्र सरकार की वायु गुणवत्ता पूर्वानुमान प्रणाली ने बताया कि दिल्ली-एनसीआर की वायु गुणवत्ता में शनिवार को और सुधार होने व ‘मध्यम’ श्रेणी में आने की उम्मीद है।

इसके मुताबिक सतह पर हवाओं की दिशा उत्तर पश्चिम की ओर है और शनिवार को इसकी अधिकतम गति 20 किलोमीटर प्रतिघंटे रही।

केंद्रीय एजेंसी ने बताया कि मंगलवार से शुक्रवार के बीच प्रतिकूल मौसमी परिस्थितियों की वजह से एक्यूआई में गिरावट आएगी और इसके ‘ बहुत खराब’ श्रेणी में जाने की आशंका है।

केंद्रीय एजेंसी ने बताया कि पाकिस्तान की सीमा से लगे पंजाब के इलाकों और हरियाणा में शुक्रवार को पराली जलाने की करीब 800 घटनाएं दर्ज की गईं।

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की वायु गुणवत्ता निगरानी ऐप ‘ सफर’ के मुताबिक शुक्रवार को दिल्ली की हवा में मौजूद पीएम-2.5 में पराली की हिस्सेदारी 15 फीसदी रही।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।