07 Dec 2021, 09:21 HRS IST
  • भारत ने न्यूजीलैंड को 372 रन से करारी शिकस्त दी
    भारत ने न्यूजीलैंड को 372 रन से करारी शिकस्त दी
    बीआर आंबेडकर पुण्यतिथि
    बीआर आंबेडकर पुण्यतिथि
    राजनाथ सिंह ने दिल्ली में अपने रूसी समकक्ष से मुलाकात की
    राजनाथ सिंह ने दिल्ली में अपने रूसी समकक्ष से मुलाकात की
    पोप फ्रांसिस यूनान दौरे पर
    पोप फ्रांसिस यूनान दौरे पर
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम विदेश
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • बांग्लादेश में रोहिंग्या समुदाय के दो समूहों में झड़प, छह लोगों की मौत

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 15:26 HRS IST

ढाका, 22 अक्टूबर (एपी) दक्षिणी बांग्लादेश स्थित एक शिविर में शुक्रवार को रोहिंग्या शरणार्थियों के दो समूहों के बीच हिंसक झड़प होने से कम से कम छह शरणार्थियों की मौत हो गई और 10 अन्य घायल हो गए।

शिविर की सुरक्षा का काम संभालने वाले सशस्त्र पुलिस बटालियन के कमांडर शिहाब कैसर खान ने बताया कि झड़प कॉक्स बाजार जिले में हुई, जब एक समूह ने गोलीबारी कर दी, जिससे मौके पर ही चार लोगों की मौत हो गई। दो लोगों की मौत अस्पताल में इलाज के दौरान हुईं। वहीं, घायलों का इलाज चल रहा है।

दोनों समूह के बीच झड़प किस बात को लेकर हुई, यह अभी स्पष्ट नहीं है। हालांकि, स्थानीय मीडिया का कहना है कि दोनों पक्षों में अवैध मादक पदार्थों की तस्करी को लेकर शिविर में वर्चस्व स्थापित करने के लिए आपस में झगड़ा चल रहा था।

बांग्लादेश के अधिकारियों ने बताया कि पहले कुछ रोहिंग्या समूह अपहरण तथा फिरौती वसूलने जैसे गंभीर अपराधों में भी लिप्त थे और वे म्यांमा से मादक पदार्थों की तस्करी भी करते थे, जहां वे बांग्लादेश आने से पहले रहते थे।

खान ने बताया कि रोहिंग्या समुदाय के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है और उसके पास से हथियार भी बरामद हुए हैं। हालांकि, उन्होंने इस संबंध में कोई विस्तृत जानकारी नहीं दी। उन्होंने कहा कि पुलिस संदिग्धों का पता लगाने के लिए शिविर में तलाशी कर रही है।

रोहिंग्या शरणार्थियों के एक अंतरराष्ट्रीय प्रतिनिधि की उखिया स्थित शिविर में गोली मारकर हत्या करने के लगभग तीन सप्ताह बाद शुक्रवार को हिंसा की यह घटना सामने आई।

म्यांमा के करीब 11 लाख से अधिक रोहिंग्या शरणार्थियों ने तमाम तरह के उत्पीड़न से परेशान होकर बांग्लादेश में पनाह ली है।

एपी निहारिका दिलीप दिलीप 2210 1524 ढाका

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।
  • इस खण्ड में