18 May 2022, 02:7 HRS IST
  • राजनाथ सिंह ने मुंबई में दो स्वदेश निर्मित युद्धपोतों का जलावतरण किया
    राजनाथ सिंह ने मुंबई में दो स्वदेश निर्मित युद्धपोतों का जलावतरण किया
    शाह ने उच्च स्तरीय बैठक में जम्मू-कश्मीर की स्थिति की समीक्षा की
    शाह ने उच्च स्तरीय बैठक में जम्मू-कश्मीर की स्थिति की समीक्षा की
    रिश्वत लेने के आरोप में कार्ति चिदंबरम के 10 ठिकानों पर छापेमारी
    रिश्वत लेने के आरोप में कार्ति चिदंबरम के 10 ठिकानों पर छापेमारी
    प्रधानमंत्री मोदी ने की योगी सरकार के मंत्रियों से मुलाकात
    प्रधानमंत्री मोदी ने की योगी सरकार के मंत्रियों से मुलाकात
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • इत्र कारोबारी के खिलाफ कार्रवाई पर सपा को मिर्ची क्यों लग रही है : ठाकुर

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 13:11 HRS IST

बलिया (उप्र), 29 दिसंबर (भाषा) केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव पर हमला करते हुए करोड़ों रुपये की बेनामी संपत्ति बरामद होने से सुर्खियों में आए इत्र कारोबारी के साथ उनके संबंध होने का दावा किया।

सूचना एवं प्रसारण मामलों के साथ ही खेल मामलों के भी मंत्री ठाकुर ने मंगलवार को जिले के नरही क्षेत्र में अखिल भारतीय आमंत्रण प्राइजमनी फुटबाल प्रतियोगिता के समापन समारोह से इतर संवाददाताओं से बातचीत में अखिलेश पर इत्र व्यवसायी पीयूष जैन के ठिकानों पर पिछले दिनों हुई छापेमारी को लेकर जमकर निशाना साधा।

इत्र कारोबारी से सपा के रिश्ते नहीं होने संबंधी अखिलेश के बयान से संबंधित सवाल पर उन्होंने कहा, "इत्र कारोबारी से सपा के रिश्ते नहीं हैं तो सपा को मिर्ची क्यों लग रही है। अखिलेश यादव अब क्यों बोल रहे हैं कि अभी आयकर विभाग की छापेमारी हुई है। इसके बाद ईडी व अन्य विभागों की छापेमारी होगी।" ठाकुर ने कहा कि अखिलेश को इत्र कारोबारी के दर्द का एहसास तो है लेकिन जिस गरीब के विकास पर खर्च होने वाले कर का धन चुराया गया है, उस गरीब के दर्द का एहसास सपा को नहीं है तथा इससे स्पष्ट हो जाता है कि इत्र कारोबारी से किसकी सांठगांठ है।

उन्होंने कहा, "सपा का दर्द छुपाए नहीं छुप रहा है। अखिलेश यादव जिस इत्र की बात करते रहे हैं, उसकी खुशबू दुनिया में इस तरह पहुँची है कि इत्र कारोबारी से उनके रिश्ते छिपाए नहीं छिप पा रहे हैं।" केंद्रीय मंत्री ने एक सवाल के जवाब में कहा कि इस छापेमारी का उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव से कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने कहा कि पर्याप्त जानकारी होने पर ही विभाग ऐसे मामले में कार्रवाई करता है और विभाग इस तरह की कार्रवाई के लिए स्वतंत्र है।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।