18 May 2022, 01:32 HRS IST
  • राजनाथ सिंह ने मुंबई में दो स्वदेश निर्मित युद्धपोतों का जलावतरण किया
    राजनाथ सिंह ने मुंबई में दो स्वदेश निर्मित युद्धपोतों का जलावतरण किया
    शाह ने उच्च स्तरीय बैठक में जम्मू-कश्मीर की स्थिति की समीक्षा की
    शाह ने उच्च स्तरीय बैठक में जम्मू-कश्मीर की स्थिति की समीक्षा की
    रिश्वत लेने के आरोप में कार्ति चिदंबरम के 10 ठिकानों पर छापेमारी
    रिश्वत लेने के आरोप में कार्ति चिदंबरम के 10 ठिकानों पर छापेमारी
    प्रधानमंत्री मोदी ने की योगी सरकार के मंत्रियों से मुलाकात
    प्रधानमंत्री मोदी ने की योगी सरकार के मंत्रियों से मुलाकात
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम राष्ट्रीय
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • लखीमपुर खीरी हिंसा में दो और गिरफ्तार

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 18:38 HRS IST

लखीमपुर खीरी (उप्र) दो जनवरी (भाषा) उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले के तिकुनिया क्षेत्र में पिछले वर्ष तीन अक्टूबर को हुई हिंसा की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) ने दो और लोगों को गिरफ्तार किया है।

तिकुनिया इलाके में तीन अक्टूबर को किसान आंदोलन के दौरान भड़की हिंसा में चार किसान और एक पत्रकार तथा प्रतिक्रिया स्वरूप दूसरे पक्ष के हमले में भारतीय जनता पार्टी के दो कार्यकर्ताओं और एक चालक की मौत हो गई थी।

भाजपा कार्यकर्ताओं की तरफ से दर्ज कराई गई प्राथमिकी में एसआईटी ने शनिवार की शाम दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया।

एसआईटी अधिकारियों के मुताबिक गिरफ्तार किये गये आरोपियों का नाम तिकुनिया कोतवाली सीमा अंतर्गत खैरतिया गांव निवासी कंवलजीत सिंह और पलिया कोतवाली क्षेत्र के बबौरा निवासी कमलजीत सिंह है।

इसमें कहा गया है कि इन पर भाजपा कार्यकर्ताओं शुभम बाजपेयी और श्याम सुंदर निषाद तथा एक चालक हरिओम की हत्या में शामिल होने का आरोप है। इसके अनुसार इस मामले में एसआईटी अब तक कुल छह लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है, इसके पहले चार अन्य विचित्र सिंह, गुरविंदर सिंह, रंजीत सिंह और अवतार सिंह को गिरफ्तार किया गया था जो जेल में निरुद्ध हैं।

गौरतलब है कि तिकुनिया हिंसा में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा 'टेनी' के पुत्र आशीष मिश्रा और उसके दर्जन भर साथियों के खिलाफ चार किसानों को थार जीप से कुचलकर मारने और उन पर फायरिंग करने जैसे कई गंभीर आरोप हैं।

गृह राज्य मंत्री का पुत्र भी अपने साथियों समेत उपरोक्‍त आरोपों में जेल में बंद हैं। आशीष मिश्रा और उसके साथियों के खिलाफ किसानों की तरफ से दी गई तहरीर के आधार पर हत्या, हत्या के प्रयास समेत कई गंभीर धाराओं में मामला दर्ज किया गया है।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।