15 Aug 2022, 03:44 HRS IST
  • मवेशी तस्करी मामला: तृणमूल कांग्रेस के नेता अनुब्रत मंडल गिरफ्तार
    मवेशी तस्करी मामला: तृणमूल कांग्रेस के नेता अनुब्रत मंडल गिरफ्तार
    श्रावण पूर्णिमा: अयोध्या में उमड़े श्रद्धालु
    श्रावण पूर्णिमा: अयोध्या में उमड़े श्रद्धालु
    राष्ट्रपति मुर्मू ने मनाया रक्षा बंधन का त्योहार
    राष्ट्रपति मुर्मू ने मनाया रक्षा बंधन का त्योहार
    राजौरी जिले में सैन्य शिविर पर आतंकवादी हमला
    राजौरी जिले में सैन्य शिविर पर आतंकवादी हमला
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम विदेश
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • भारत-रूस के संबंध अमेरिका और रूस के संबंधों से अलग हैं, और इसमें कोई परेशानी की बात नहीं: अमेरिका

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 12:13 HRS IST

(ललित के झा)

वाशिंगटन, 26 फरवरी (भाषा) अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के प्रशासन ने कहा कि भारत के रूस के साथ संबंध, अमेरिका और रूस के बीच संबंधों से अलहदा है और इसमें परेशानी की कोई बात नहीं है।

अमेरिका ने साथ ही कहा कि उसने रूस के साथ संबंध रखने वाले हर देश से नियम आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था को सुरक्षित रखने में अपने प्रभाव का इस्तेमाल करने को कहा है।

विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा कि भारत के साथ अमेरिका के अहम हित और मूल्य जुड़े हुए हैं।

प्राइस ने शुक्रवार को दौनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा,‘‘ भारत के साथ हमारे अहम हित जुड़े हुए हैं। हम भारत के साथ अहम मूल्य साझा करते हैं, और हम जानते हैं कि भारत के रूस के साथ संबंध उन संबंधों से अलग हैं जो हमारे और रूस के बीच हैं। और सही में इसमें कोई परेशानी की बात नहीं है।’’

उन्होंने एक प्रश्न के उत्तर में कहा, ‘‘भारत के रूस के साथ मजबूत रिश्ते हैं,जो हमारे यकीनन नहीं हैं। भारत और रूस के बीच रक्षा और सुरक्षा के क्षेत्र में संबंध हैं,जो हमरे बीच नहीं है...हमने प्रत्येक देश से कहा है कि जिनके संबंध हैं और जो लाभ ले सकते हैं वे उसका इस्तेमाल रचनात्मक तरीके से करें।’’

गौरतलब है कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने बुधवार को पूर्वी यूक्रेन में विशेष सैन्य अभियान की घोषणा की और उसके बाद से दोनों देशों के बीच हमले जारी है। इस हमलों के लिए रूस की चौतरफा आलोचना हो रही है और अमेरिका सहित कई देशों ने रूस पर प्रतिबंध लगाए हैं।

प्राइस ने कहा कि अमेरिका की भारत के साथ व्यापक रणनीति साझेदारी है।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।