24 Aug 2019, 21:14 HRS IST
  • मथुरा में कृष्ण जन्मभूमि भागवत भवन में उमड़े श्रद्धालु
    मथुरा में कृष्ण जन्मभूमि भागवत भवन में उमड़े श्रद्धालु
    पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह राज्यसभा सदस्य के रूप में शपथ लेते
    पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह राज्यसभा सदस्य के रूप में शपथ लेते
    कृष्ण जम्माष्टमी के मौके पर दही हांडी का एक नजारा
    कृष्ण जम्माष्टमी के मौके पर दही हांडी का एक नजारा
    मुंबई में दही हांडी उत्सव में शिरकत करते श्रद्धालु
    मुंबई में दही हांडी उत्सव में शिरकत करते श्रद्धालु
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम प्रेस विज्ञप्ति व्याप्त प्रेस विज्ञप्ति
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
  • प्रेस विज्ञप्ति


स्रोत: Alzheimer''s Association
श्रेणी: Medical and Health Care
अल्जाइमर्स रोग तथा अन्य डिमेंशिया के ब्लड मार्केर के लिए वैश्विक तलाश में प्रगति
17/07/2019 3:06:50:223PM

अल्जाइमर्स रोग तथा अन्य डिमेंशिया के ब्लड मार्केर के लिए वैश्विक तलाश में प्रगति 


लास एंजिलिस, 16 जुलाई, 2019, पीआरन्यूजवायर— एशियानेट। 

— अल्जाइमर्स एसोसिएशन इंटरनेशनल कांफ्रेंस 2019 के निष्कर्ष 

लास एंजिलिस में आयोजित अल्जाइमर्स एसोसिएशन इंटरनेशनल कांफ्रेंस (https://c212.net/c/link/?t=0&l=en&o=2524018-1&h=2836536051&u=https%3A%2F%2Fwww.alz.org%2Faaic%2Foverview.asp&a=

Alzheimer%27s+Association+International+Conference) (एएआईसी) 2019 के दौरान अल्जाइमर्स रोग और अन्य डिमेंशिया के लिए ब्लड टेस्ट टेक्नोलॉजी की वैश्विक तलाश में आश्चर्यजनक प्रगति बताई गई। 


 एएआईसी 2019 की एक नई रिपोर्ट में असामान्य संस्करणों को मापने के तरीकों का वर्णन किया गया है

अमाइलॉइड प्रोटीन, जो अल्जाइमर रोग के हॉलमार्क मस्तिष्क के घावों में से एक का निर्माण खंड है, रक्त में और इसे स्थापित अल्जाइमर मार्करों के साथ सहसंबंधित करता है। दो अतिरिक्त रिपोर्ट अल्फा सिन्यूक्लिन का आकलन करने के लिए नए रक्त-आधारित तरीकों का वर्णन करती हैं, जो कि पार्किंसंस रोग के मस्तिष्क में परिवर्तन और लेवी निकायों के साथ डिमेंशिया, और न्यूरोफिलामेंट प्रकाश का योगदान देता है, जो सामान्य मस्तिष्क कोशिका क्षति का सबसे विश्वसनीय संकेतक हो सकता है।

वर्तमान में, अल्जाइमर डिमेंशिया के लक्षण दिखाई देने से पहले होने वाले मस्तिष्क परिवर्तन का केवल सकारात्मक रूप से पॉज़िट्रॉन-एमिशन टोमोग्राफी (पीईटी) स्कैन द्वारा और स्पाइनल फ्लूइड में एमाइलॉयड और ताऊ प्रोटीन को मापने से ही मूल्यांकन किया जा सकता है। ये तरीके महंगे हैं और, स्पाइनल टैप के मामले में, इनवेसिव। और, बहुत बार, वे अनुपलब्ध हैं, बीमा द्वारा कवर नहीं किया गया है या उपयोग करने में मुश्किल है।

नई स्क्रीनिंग और नैदानिक को उजागर करने और विकसित करने के लिए रक्त परीक्षण जैसे अल्जाइमर रोग के उपकरण एक वैश्विक "दौड़" है।

अल्जाइमर्स एसोसिएशन की मुख्य विज्ञान अधिकारी मारिया सी. कैरिलो, पीएचडी ने कहा, 'अल्जाइमर्स के लिए सरल, विश्वसनीय, किफायती, नॉन—इनवेसिव और आसानी से उपलब्ध डायग्नोस्टिक टूल्स की सख्त जरूरत है। अल्जाइमर्स से पीड़ित परिवारों को अभी और भविष्य में सरल और व्यापक रूप से सुलभ डायग्नोस्टिक टूल्स का बहुत लाभ मिलेगा जिससे वे रोग की शुरुआती प्रक्रिया में सटीक डायग्नोसिस पा सकेंगे और महत्वपूर्ण देखभाल एवं योजना बना सकेंगे।'

कैरिलो ने कहा, 'ये नई टेस्टिंग टेक्नोलॉजी, जो अभी औद्योगिक एवं शैक्षणिक शोधकर्ताओं के विकास चरण में हैं, भी क्लिनिकल ट्रायल में थेरापी के प्रभाव को जानने के लिए संभावित रूप से इस्तेमाल की जा सकती हैं।'

प्लाज्मा एमिलायड की अन्य अल्जाइमर्स बायोमार्कर्स से कैसे तुलना की जाती है?

नेचर में जनवरी 2018 में प्रकाशित एक अध्ययन में नेशनल सेंटर फॉर गेरियाट्रिक्स एंड गेरोंटोलॉजी, ओबु, जापान के अकिनोरी नाकामुरा, एमडी, पीएचडी तथा उनके सहयोगियों ने एमिलायड—बीटा के संभावित ब्लड बायोमार्कर का वर्णन किया जिसमें उन्होंने भविष्य में अल्जाइमर्स डिमेंशिया होने की आशंका वाले लोगों की पहचान करने का सुझाव दिया। यह टेक्नोलॉजी एमिलायड संबंध पेप्टाइड्स (एबी1—42, एबी1—40 और एपीपी669—711) के प्लाज्मा स्तर को मापती है और बायोमार्कर को पेप्टाइड्स (एपीपी669—711/एबी1—42 और एबी1—40/एबी1—42) के अनुपातों को जोड़कर निकाला जाता है।

एएआईसी 2019 में नाकामुरा और सहयोगियों ने ब्रेड एमिलायड पेट स्कैन (एबी संग्रह को दर्शाता है), संरचनात्मक एमआरआई (ब्रेन एट्राफी को दर्शाता है), एफडीजी—पेट (ग्लूकोज हाइपोमेटाबोलिज्म को दर्शाता है) तथा व्यवहार परीक्षण (एमएमएसई/संज्ञानात्मक हृास को दर्शाता है) की तुलना में प्लाज्मा बायोमार्कर के विश्लेषण को लक्ष्य कर किए अध्ययन के नतीजे पेश किए। उन्होंने जापान में तीन विभिन्न संस्थानों के 201 नमूनों (70 संज्ञानात्मक सामान्य, 46 एमसीआई, 61 अल्जाइमर्स और 24 नॉन—अल्जाइमर्स डिमेंशिया) का विश्लेषण किया। समग्र ब्लड बायोमार्कर के मूल्यों को एमिलायड पेट मूल्य (पी<0.001), एमआरआई (p<0.001), एफडीजी—पेट (p<0.002) और एमएमएसई (p<0.001) के साथ परस्पर संबंधों को देखा गया।

नाकामुरा ने कहा, 'हमने पाया कि डिमेंशिया के लक्षणों दिखने से पहले ही प्लाज्मा बायोमार्कर एमिलायड संचय के शुरुआती चरणों की पहचान कर सकता है।  हमारे परिणाम बताते हैं कि प्लाज्मा बायोमार्कर अल्जाइमर्स के खतरे वाले लोगों की जांच में उपयोगी हो सकता है। यह अल्जाइमर्स थेरापी के लिए क्लिनिकल ट्रायल की सुविधा दे सकता है और साथ ही अल्जाइमर्स के बढ़ने के नॉन—ड्रग इंटरवेंशन, जोखिम प्रबंधन और लाइफस्टाइल के प्रभावों की तहकीकात करने के लिए भी अध्ययन को गति दे सकता है।'

लाल रक्त कोशिकाओं में अल्फा सिनुक्लिन (लेवी बॉडी मार्कर), एमिलायड और ताउ 

कई डिजनरेटिव मस्तिष्क रोगों का सामान्य विशेषता मस्तिष्क और आसपास के द्रव्यों दोनों में ए—सिनुक्लिन (ए—सिन), एमिलायड—बीटा (एबी) और ताउ समेत मिसफोल्डेड प्रोटीन संग्रह है। हाल ही में एमिलायड और ताउ के साथ ए—सिन के भौतिक संसर्ग का ताल्लुक इन बीमारियों की प्रगति के कारण के तौर पर देखा गया है। 

एमिलॉइड और ताउ प्रोटीन के असामान्य संस्करण अल्जाइमर रोग के हॉलमार्क मस्तिष्क के घावों के मुख्य बिल्डिंग ब्लॉक हैं, हालांकि वे अन्य स्थितियों में भी दिखाई देते हैं। ए—सिन, लेवी निकायों का एक प्रमुख घटक है, प्रोटीन क्लम्प्स जो कि पार्किंसंस रोग की पहचान है और लेवी बॉडीज़ के साथ डिमेंशिया है। 

यूनिवर्सिडी आॅफ पीसा, इटली में क्लिनिकल एंड एक्सपेरिमेंटल मेडिसिन विभाग और इंस्टीट्यूट आॅफ मेमोरी एंड अल्जाइमर्स डिजीज (आईएम2ए),न्यूरोलॉजी विभाग, पेरिस स्थित पिटी—सल्पेट्रिर हॉस्पिटल के फिलिपो बल्दाची, एमडी और उनके सहयोगियों ने यह खोज करना चाहा कि लाल रक्त कोशिकाओं में ए—सिन की सांद्रता तथा एमिलायड और ताउ (ए—सिन/एबी और ए—सिन/ताउ) के साथ इसका संयोजन स्वस्थ व्यक्तियों के अल्जाइमर्स वाले लोगों में सही—सही अंतर बता सकता है या नहीं। 

ए—सिन, ए—सिन/एबी और ए—सिन/ताउ के स्तरों का अल्जाइमर्स के शुरुआती चरण वाले 39 लोगों और उम्र मिला वाले 39 स्वस्थ नियंत्रणों के साथ विश्लेषण किया गया। अल्जाइमर्स के मरीजों को बायोमार्कर आधारित डायग्नोसिस (सीएसएफ एबी और सीएसएफ संपूर्ण—ताउ तथा/या फॉस्फो—ताउ, वैकल्पिक रूप से सकारात्मक मस्तिष्क एमिलायड पेट स्कैन) दिया गया। 

शोधकर्ताओं ने पाया कि इस अध्ययन में अल्जाइमर्स से पीड़ित लोगों में नियंत्रण के मुकाबले लाल रक्त कोशिकाओं (आरबीसी) में ए—सिन, ए—सिन/एबी और ए—सिन/ताउ की निम्न सांद्रता देखी गई। 'स्पष्ट परिशुद्धता' (क्रमश: एयूआरओसी=0.76, 0.72) के साथ स्वस्थ नियंत्रण वाले अल्जाइमर्स पीड़ित लोगों में आरबीसी ए—सिन/एबी और आरबीसी ए—सिन/ताउ का अंतर पाया गया। 

बल्दाची ने कहा, 'हमारे परिणाम बताते हैं कि अल्जाइमर पीड़ित लोगों में स्वस्थ व्यक्तियों की तुलना में उनकी लाल रक्त कोशिकाओं में अमिलॉइड और ताउ के साथ संयोजन के रूप में बहुत कम सांद्रता थी। आगे के शोध और पुष्टि के जरिये अल्जाइमर पीड़ित लोगों की पहचान करने के लिए यह एक अच्छा उपकरण साबित हो सकता है। हमारे प्रयोग अब विकासशील दौर में हैं जो अल्जाइमर्स को मस्तिष्क की अन्य बीमारियों जैसे कि लेवी बॉडी डिमेंशिया या पार्किंसंस डिमेंशिया से अलग करने की इसकी क्षमता को सत्यापित करने के लिए हैं। लाल रक्त कोशिकाएं जब से मिसफोल्डेड प्रोटीन के संचयन और क्लीयरेंस से संभवत: जुड़ते हैं, तब से न्यूरोडिजनरेशन के कार्ययोग्य एवं प्रासंगिक मॉडलों का प्रतिनिधित्व कर सकती हैं।'

प्लाज्मा न्यूरोफिलामेंट लाइट स्वस्थ नियंत्रण से कई रोगों का पता लगाता है

न्यूरोफिलामेंट लाइट (एनएफएल), जिसे न्यूरोफिलामेंट प्रकाश शृंखला के रूप में भी जाना जाता है, को सक्रिय रूप से न्यूरोडीजेनेरेशन के लिए जैविक मार्कर के रूप में जांच की जा रही है।

मस्तिष्कमेरु तरल पदार्थ और विभिन्न न्यूरोलॉजिकल विकारों में प्लाज्मा, जिसमें अल्जाइमर रोग और अन्य डिमेंशिया शामिल हैं।

किंग्स कॉलेज लंदन (केसीएल) में इंस्टीट्यूट आॅफ साइकियाट्री, साइकोलॉजी एंड न्यूरोसाइंस के अब्दुल हई, पीएचडी कहते हैं, हालांकि रक्त एनएफएल उम्र मिलान नियंत्रण और रोग से पीड़ित मरीजों के बीच अंतर को व्यापक स्तर पर स्वीकार किया गया है, अब तक सीमित शोध हुए हैं कि एनएफएल की सांद्रता कैसे न्यूरोडिजनरेशन डिसआॅर्डर में अंतर लाता है।'

एएआईसी 2019 में प्रस्तुति के आधार पर हई और केसीएल, लुंड यूनिवर्सिटी तथा यूनिवर्सिटी आॅफ गुटेनबर्ग के सहयोगियों ने रक्त एनएफएल के स्तर की तुलना कई न्यूरोडिजनरेटिव/न्यूरोलॉजिकल स्थितियों में की। इस अध्ययन में मूल समूह (एन=1,465, लुंड यूनिवर्सिटी का बायोफाइंडर) और दूसरा स्वतंत्र कोहर्ट (एन=852, केसीएल) ने आंशिक रूप से संज्ञानात्मक विकार (एमसीआई), अल्जाइमर रोग, फ्रंटोटेंपरल डिमेंशिया (एफटीडी), लेवी बॉडीज के साथ डिमेंशिया (डीएलबी), पर्किंसंस रोग (पीडी), प्राथमिक ताउपेथी और स्वस्थ बुजुर्ग नियंत्रण वाले लोगों को शामिल किया। इसके अलावा वैस्कुलर डिमेंशिया, डाउन सिंड्रोम (डीएस), एमियोट्रोफिक लैटरल सिरोसिस (एएलएस), मल्टीपल सिरोसिस (एमएस) और क्लिनिकल अवसाद की कई अन्य स्थितियों को इसमें शामिल किया गया। 

शोधकर्ताओं ने पाया कि नियंत्रण समूह की तुलना में अल्फाइमर, एफटीडी, डीएलबी, कॉर्टिकोबैसल सिंड्रोम(सीबीएस), एएलएस और डिमेंशिया से पीड़ित डाउन सिंड्रोम (डीएस—डी) सहित आठ न्यूरोडीजेनेरेटिव स्थितियों में एनएफएल में काफी वृद्धि हुई थी। दोनों अध्ययन समूहों के लिए समान परिणाम देखे गए। उन्होंने बाद में सामान्य और असामान्य माने गए समूह को अलग करने के प्रयास के लिए एक एनएफएल एकाग्रता कट-ऑफ पॉइंट (बायोफ़ाइंडर में उत्पन्न किया अध्ययन समूह) बनाया, इसके बाद केसीएल कोहोर्ट में इसका परीक्षण किया गया। 

वैज्ञानिकों ने पाया कि स्वस्थ नियंत्रण का सिर्फ 2 फीसदी असामान्य एनएफएल स्तर पर था जो कट—आॅफ प्वाइंट के विकल्प को मजबूत करता है। इन समूहों में कट—आॅफ प्वाइंट की पहचान सर्वाधिक एनएफएल एकाग्रता वाले अध्ययन के तौर पर की गई: एएलएस (82 फीसदी), डीएस—डी (100 फीसदी), सीबीएस (53—67 फीसदी) और एफटीडी (40—63 फीसदी)। दोनों अध्ययन समूहों में अल्जाइमर्स से पीड़ित सिर्फ 16—20 फीसदी लोग ही असामान्य एनएफएल की बाधा पार कर सकेंगे। शोधकर्ताओं का कहना है कि उन्होंने अल्जाइमर्स डिजीज न्यूरोइमेजिंग इनिशिएटिव आंकड़ों में अल्जाइमर्स के इस निष्कर्ष को प्रतिबिंबित किया है। 

हेई ने कहा, 'पहली बार हमने दिखाया कि स्वस्थ नियंत्रणों से तुलना करने पर एनएफएल खुद कई न्यूरोडिजनरेटिव स्थितियों को वर्गीकृत करने में सक्षम है। ये परिणाम एनएफएल को डायग्नोस्टिक टूल के तौर पर और क्लिनिकल ट्रायल में इस्तेमाल का वादा करते हैं।'

हेई ने कहा, 'जैसाकि अन्य अध्ययनों में पहले भी देखा गया है, एनएफएल किसी स्थिति के लिए विशिष्ट नहीं है, वैधता के आधार पर यह संबंधित किफायती और मस्तिष्क में संचित न्यूरोडिजनरेशन के अपेक्षाकृत तीव्र परीक्षण के रूप में मूल्यवान हो सकता है।'

अल्जाइमर्स एसोसिएशन इंटरनेशनल कांफ्रेंस (एएआईसी) के बारे में 

अल्जाइमर्स एसोसिएशन इंटरनेशनल कांफ्रेंस (एएआईसी) अल्जाइमर्स और डिमेंशिया पर केंद्रित विश्व के शोधकर्ताओं का सबसे बड़ा समूह है। अल्जाइमर्स एसोसिएशन के शोध कार्यक्रम के तहत एएआईसी डिमेंशिया के बारे में नई जानकारी प्रसारित करने के लिए उत्प्रेरक का काम करती है और एक अहम, कॉलेजियल शोध समाज को प्रोत्साहित करती है। 

एएआईसी 2019 होम पेज :www.alz.org/aaic/

एएआईसी 2019 न्यूजरूम:www.alz.org/aaic/pressroom.asp

अल्जाइमर्स एसोसिएशन (आर) के बारे में 

अल्जाइमर्स एसोसिएशन अल्जाइमर्स की देखभाल, सहयोग तथा शोध में एक अग्रणी स्वैच्छिक स्वास्थ्य संगठन है। हमारा उद्देश्य शोध के जरिये अल्जाइमर्स रोग को मिटाना है ताकि सभी प्रभाविं को देखभाल एवं सहयोग मिल सके और इसमें वृद्धि की जा सके और मस्तिष्क के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के जरिये मनोरोग के खतरे को कम किया जा सके। हमारा मकसद विश्व को अल्जाइमर्स मुक्त बनाना है। देखें 

alz.org या कॉल करें 800.272.3900.

    -- Akinori Nakamura, MD, PhD, et al. What Kind of Information Does the 

       Plasma Amyloid-B Biomarker Tell Us? (Funder(s): Japan Agency for 

       Medical Research and Development) 

    -- Filippo Baldacci, MD, et al. Potential Diagnostic Value of Red Blood 

       Cells a-Synuclein Heteroaggregates in Alzheimer's Disease. (Funder(s): 

       PRA Health Sciences, Inc.) 

    -- Abdul Hye, PhD, et al. Plasma Neurofilament Light a Pan-

       Neurodegenerative Marker. (Funder(s): National Institute for Health 

       Research (NIHR); European Research Council; Swedish Research Council; 

       Knut and Alice Wallenberg Foundation; Marianne and Marcus Wallenberg 

       Foundation; Swedish Alzheimer Foundation; Swedish Brain Foundation; 

       Parkinson Foundation of Sweden; Skane University Hospital Foundation; 

       Swedish federal government.)

स्रोत: अल्जाइमर्स एसोसिएशन 

संपादक : यह विज्ञप्ति आपको एशियानेट के साथ हुए समझौते के तहत प्रेषित की जा रही है। पीटीआई पर इसका कोई संपादकीय उत्तरदायित्व नहीं है।
संपर्क:
मीडिया संपर्क विवरण:
अल्जाइमर्स एसोसिएशन मीडिया लाइन, 1 312 335 4078, media@alz.org, एएआईसी 2019 प्रेस आॅफिस, 1 213 743 6202, aaicmedia@alz.org
 Bookmark with:   Delicious |  Digg |  Reditt |  Newsvine
    • arrow  प्रेस विज्ञप्ति
  • pti